भास्कर की खबर पर भागलपुर नगर निगम में हंगामा:जिला परिषद् अध्यक्ष पर FIR नहीं तो हाईकोर्ट जाने को तैयार वार्ड पार्षद, आयुक्त के खिलाफ की हड़ताल

भागलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नगर निगम में विरोध करते वार्ड सदस्य। - Dainik Bhaskar
नगर निगम में विरोध करते वार्ड सदस्य।

भागलपुर में नगर निगम द्वारा पेट्रोल पम्पकर्मी के खाते में अवैध रूप से रुपया ट्रान्सफर करने के मामले ने अब पूरी तरह से तूल पकड़ लिया है। इस मामले को सबसे पहले भास्कर ने ही 28 अगस्त को प्रकाशित किया था। इस खबर के प्रकाशित होते ही नगर निगम में मानों भूचाल आ गया। इसके बाद वार्ड पार्षदों ने एकजुट होकर नगर आयुक्त को ज्ञापन सौंपा, जिसमें कहा गया कि आरोपी जिला परिषद् अध्यक्ष टुनटुन साह, पीड़ित अनिल तांती के साथ स्पष्ट दिख रहे हैं, इसलिए इस मामले पर आरोपी टुनटुन साह पर प्राथमिकी दर्ज करवाइए। लेकिन नगर आयुक्त ने जांच के नाम पर दो दिन का समय लिया। समय पूरा होने के बाद भी जब प्राथमिकी दर्ज नहीं की गयी तब वार्ड पार्षदों ने एक दिन का सांकेतिक हड़ताल किया।

क्या है मामला

दरअसल भागलपुर की मेयर सीमा साह के पति जिला परिषद् अध्यक्ष टुनटुन साह उर्फ़ अनंत कुमार के पेट्रोल पम्प पर काम करने वाले अनिल तांती के अकाउंट पर नगर निगम से 1,62,488 रूपए का अलग-अलग किस्तों में अवैध ट्रान्सफर किया गया था। इस बात का जब अनिल तांती ने विरोध किया तो उनके साथ मारपीट भी की गयी। अपने अकाउंट में इस तरह से किए गए अवैध रूपये से डर कर अनिल तांती ने जिला पुलिस प्रशासन से लेकर मुख्यमंत्री तक को आवेदन दिया था, लेकिन उसके आवेदन पर किसी ने ध्यान नहीं दिया।

क्या कहते हैं वार्ड पार्षद

वार्ड पार्षद संजय सिन्हा ने कहा कि इस मामले को सबसे पहले भास्कर डिजिटल ने ही प्रकाशित किया, जिसके बाद यह तूल पकड़ा। इस मामले को लेकर हमलोग नगर आयुक्त से मिले और उन्हें सारा प्रमाण दिखाते हुए कार्रवाई करने का निवेदन किया, लेकिन नगर आयुक्त की ढुलमुल नीति की वजह से हमलोग उनसे भी नाराज हैं। उन्होंने कहा कि अगर आरोपी पर प्राथमिकी दर्ज नहीं करवाई गयी तो हमलोग हरेक चौक पर ताली और थाली बजवाएंगे। कहा कि अभी तो हम सिर्फ एक दिन का सांकेतिक हड़ताल किए हैं। अगर आरोपी पर कार्रवाई नहीं हुई तो हम उच्च न्यायालय जाने से भी गुरेज नहीं करेंगे।

भागलपुर नगर निगम में चल रहा भ्रष्टाचार का खेल

नगर आयुक्त पर भी है रोष

संजय सिन्हा का कहना है कि हमलोगों ने नगर आयुक्त प्रफ्फुल चंद यादव से मिलकर उन्हें इस भ्रष्टाचार के कारनामे से अवगत करवाया। इन्हें ज्ञापन सौंपते हुए कहा था कि इस मामले की उच्च स्तरीय जांच करवाइए लेकिन उन्होंने इस पत्र को प्रधान सचिव को भेजकर इस मामले को ठंढे बस्ते में डाल दिया। इसके लिए हम नगर आयुक्त का भी विरोध करेंगे।

राजद ने दिया साथ

राष्ट्रीय जनता दल के प्रदेश महासचिव चक्रपाणी हिमांशु ने कहा कि भागलपुर में सृजन-2 मामले का पर्दाफाश हुआ है, जिसमें भागलपुर की गरीब जनता का पैसा शामिल है। सृजन-2 के माध्यम से भागलपुर के विकास का पैसा जिला परिषद् अध्यक्ष और पुलिस की मिलीभगत से बंदरबांट हो रहा है। उन्होंने कहा कि विकास का पैसा सड़क में लगना चाहिए, लेकिन वह पैसा जिला परिषद अध्यक्ष के पेट्रोल पम्प पर पेमेंट हो रहा है। कहा कि पदाधिकारी लोग ढुलमुल नीति अपनाते हुए इस मामले को दबा देना चाहते हैं, लेकिन हमलोग ऐसा नहीं होने देंगे।

खबरें और भी हैं...