पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दहशत:बेटे की मौत के 24 घंटे के अंदर पिता की भी गई जान

परबत्ताएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पिता-पुत्र की मौत के बाद गांव के लोगों में दहशत

विभिन्न गांवों में हो रही मौतों का आंकड़ा बढ़ने की सूचना से हड़कंप मचा हुआ है। ऐसी सूचनाओं को संज्ञान में लेते जिलाधिकारी आलोक रंजन घोष के निर्देश पर स्वास्थ विभाग की एक टीम शुक्रवार लगार पंचायत के चकप्रयाग गांव पहुंची। इसके साथ ही प्राथमिक विद्यालय चकप्रयाग में कोविड जांच शिविर लगाया गया। शिविर में डॉक्टर राजेश कुमार, एएनएम रश्मि कुमारी ने कुल 87 लोगों की एंटीजन किट से जांच की। इसमें 12 लोग पॉजिटिव पाए गए। इसके साथ ही 40 लोगों की आरटीपीसीआर जांच की गई, जिसकी रिपोर्ट आना बाकी है। वहीं परबत्ता प्रखंड में जांच में 18 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक परबत्ता प्रखंड के विभिन्न गांवों में 7 मई तक लगभग 432 कोरोना पॉजिटिव एक्टिव केस हैं। बताते चलें कि बुधवार को लगार पंचायत के चकप्रयाग गांव में पचास वर्षीय सुभाष चौधरी की आकस्मिक मौत हो गई। वहीं चौबीस घंटे के अंदर उनके 92 वर्षीय वृद्ध पिता नागेश्वर चौधरी का भी आकस्मिक निधन हो गया। घटना से चकप्रयाग गांव में मातमी सन्नाटा पसरा हुआ है। बता दें कि इस गांव में विगत छह दिन के अंदर तीन से अधिक लोगों की आकस्मिक मौत हो गई है।

खबरें और भी हैं...