आपदा:गंगा के बढ़ रहे जलस्तर से तेमथा करारी में पेयजल की बढ़ी समस्या

परबत्ता2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सदर प्रखंड के रहीमपुर पंचायत में फैला बाढ़ का पानी। - Dainik Bhaskar
सदर प्रखंड के रहीमपुर पंचायत में फैला बाढ़ का पानी।
  • परबत्ता के जोरावरपुर, लगार, दरियापुर भेलवा में लगी फसल डूबी
  • बाढ़ से बचाव के लिए ग्रामीण गोगरी नारायणपुर बांध पर ले रहे शरण

तीन तरफ से गंगा नदी से घिरा प्रखंड परबत्ता में गंगा का जलस्तर बढ़ने से बाढ का खतरा धीरे धीरे बढता जा रहा है। तेज गति से बढ़ रही गंगा नदी का पानी ने कई पंचायतों के गांवों में तबाही मचाना शुरू कर दिया है। नदी का जलस्तर खतरे के निशान पर पहुंच चुका है। शुक्रवार को गंगा किनारे बसे भरसो पंचायत के सलारपुर गांव में पानी घुस गया। इस गांव के दर्जनों परिवारों को गोगरी नारायणपुर बांध पर शरण लेने को मजबूर होना पड़ा है।
फिर से जीएन बांध का ही आसरा
कुल्हड़िया पंचायत के पासवान टोला में फिलहाल आधा दर्जन से अधिक परिवारों का घर पानी में डूब चुका है।इन सभी परिवारों ने फिलहाल जीएन बांध पर डेरा डाल दिया है। बाढ़ से प्रभावित दर्जनों लोगों ने पेयजल के लिए बांध पर चापानल लगवाने की मांग किया है। इधर तेमथा करारी पंचायत के शर्मा टोला में बाढ़ के पानी से पूरी तरह से घिर चुका है। यहां के लोगों का प्रखंड मुख्यालय से संपर्क भंग हो चुका है। वही लगार पंचायत अंतर्गत बिशौनी आधा गांव जलमग्न होने की दिशा में बढ चला है। गोगरी-नारायणपुर जीएन बांध से बाहर बसे आधा दर्जन से अधिक गांवों के लोग बाढ से प्रभावित होने की आशंका से जूझ रहे हैं। प्रखंड के तेमथा करारी शर्मा टोला,छोटी लगार,इंग्लिश लगार,सलारपुर,बुद्धनगर भरतखंड,विकास नगर भरतखंड, बिशौनी,माधवपुर,विष्णुपुर आदि गांवों से बाढ़ का पानी प्रवेश की सूचना लगातार आ रही है।

चारे की बढ़ी किल्लत, पशुपालक कर रहे पलायन
दियारा क्षेत्र के जलमग्न होने के बाद बड़ी संख्या में वहां से पशुपालकों का जत्था गांव की ओर लौटकर ऊंचे स्थानों पर डेरा डालने लगे हैं। पशुपालकों के बीच पशु चारा की एक बड़ी समस्या उत्पन्न होती दिख रही है। साथ ही जोरावरपुर, लगार,दरियापुर भेलवा,सौढ दक्षिण,भरसो,माधवपुर, कबेला,तेमथा करारी आदि पंचायतों के दियारा इलाके में पानी का फैलाव होने से खेतों में लगे फसल भी गंगा में डूबने लगा है।

स्कूलों में भर रहा है पानी
गंगा नदी के जलस्तर में हुई बढोतरी से प्रखंड के कई स्कूल डूब गए हैं या फिर बाढ़ के पानी से घिर चुके हैं। फिलहाल प्राथमिक विद्यालय हरिजन टोला भरसो,प्राथमिक विद्यालय शर्मा टोला तेमथा करारी,मध्य विद्यालय व कन्या प्राथमिक विद्यालय बिशौनी,उत्क्रमित उच्च विद्यालय गोढियासी नयागांव आदि के परिसर में बाढ़ का पानी प्रवेश कर चुका है।सामाजिक कार्यकर्ता जयप्रकाश यादव,सौरभ कुमार, भाकपा अंचल मंत्री कैलाश पासवान आदि ने कहा कि अंचल प्रशासन इस बार बाढ़ को लेकर सजग नहीं है। कई जगहों पर तत्काल नाव उपलब्ध कराया जाय तथा स्वच्छ पेयजल की व्यवस्था को लेकर हैंडपंप लगाया जाये। जो लोग बेघर हो चुके हैं उन्हें अविलंब प्लास्टिक की सीट मुहैया करवाया जाये।

खबरें और भी हैं...