पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मांग:निजी भूमि को सरकारी जमीन बताया, मुक्त कराने की मांग

पिपरिया13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अशोकधाम निवासी ने आयुक्त को दिया आवेदन

सदर प्रखंड के अशोकधाम निवासी शंभू सिंह ने आयुक्त मुंगेर, डीएम समेत अन्य पदाधिकारियों को आवेदन देकर उनके पूर्वजों के नाम से रैयती जमीन को सरकारी जमीन बताकर अतिक्रमण से मुक्त कराए जाने के संबंध में आवेदन पत्र भेजा है। पत्र में कहा गया कि उनके दादा से रैयती जमीन पर बाबा इंद्रदमनेश्वर महादेव भागवान की उत्पत्ति हुई थी। जिसमें उनके दादा ने 95 डिसमिल जमीन दान दिया था। शेष अन्य बची हुई उनकी रैयती जमीन पर शंभू सिंह ने मकान बनाकर दुकानदार को किराए पर दिया गया है। लेकिन सदर सीओ ने बेवजह उनके किरायेदार दुकानदार को नोटिस भेजकर उसे अतिक्रमित दुकान घोषित कर एक नोटिस भेजा है। इसे षड्यंत्र रचकर अतिक्रमण घोषित करते हुए उसे मुक्त कराए जाने की साजिश हो रही है। आवेदनकर्ता ने पत्र में कहा कि ट्रस्ट द्वारा उनके रैयती जमीन पर अतिक्रमण करने के मामले को उच्च न्यायालय पटना ने तत्कालीन सीओ को मापदंड का पालन करते हुए उनके रैयती जमीन को अतिक्रमण मुक्त का आदेश पारित किया गया है। इसके अलावा राज्य धार्मिक बोर्ड के अध्यक्ष किशोर कुणाल ने ट्रस्ट को अतिक्रमण मुक्त करने का आदेश निर्गत किया था लेकिन ने अधिकारी ने दिलचस्पी नहीं ली।

खबरें और भी हैं...