पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

सर्वे:वन अधिकार पट्टों की जांच शुरू, अधिकारी ग्रामीणों से मांगे रहे प्रमाण

पिपरिया4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ग्रामीण कई सालों से शासन से कर रहे थे पट्टे की मांग

जंगल की जमीन पर काबिज ग्रामीणाें से अधिकारी अब कब्जे के प्रमाण मांग रहे हैं। दरअसल अधिकारियाें ने वन अधिकार पट्टाें के लिए जांच शुरू कर दी है। जंगल क्षेत्र में रहने वाले लोगों के द्वारा वर्ष 2008 में जंगल की जमीन पर पट्टे की मांग की गई थी। इसी मांग की सुनवाई में उस जमीन पर काबिज होने का प्रमाण अधिकारियों के द्वारा मांगा जा रहा है। जो लोग प्रमाण नहीं देंगे उनके वन अधिकार संबंधी आवेदन की सुनवाई शासन स्तर से बनाई गई समितियों के द्वारा की जाएगी। समितियां अगर संतुष्ट नहीं होती हैं तो आवेदन को खारिज कर दिया जाएगा। दस्तावेजाें की मांग सुनते ही सालों-साल से जंगल में रह रहे आदिवासी चिंता में पड़ जाते हैं। पट्टा मांगने वालों से प्रमाण के रूप में जमीन संबंधी दस्तावेज की मांग की जा रही है जो कि अधिकांश लोगों के पास नहीं है। 

पिपरिया क्षेत्र के 231 लोगों ने की थी पट्‌टे की मांग
तहसीलदार राजेश बोरासी ने बताया कि वर्ष 2008 में पिपरिया क्षेत्र के जंगल के सीमावर्ती इलाकों में बसे 231 लोगों ने वन अधिकार पट्टे की मांग की थी। वन अधिकार अधिनियम 2006 के तहत इन आवेदनों की सुनवाई की जा रही है। जंगल क्षेत्र में रहने वाले अनुसूचित जनजाति वर्ग के निवासियों से 30 वर्ष से अधिक समय उस जमीन पर रहने का प्रमाण मांगा जा रहा है। वे लोग जो अनुसूचित जनजाति वर्ग में नहीं है अन्य वर्ग में आते हैं उन सभी लोगों से 75 वर्ष से अधिक समय से जंगल की जमीन पर काबिज होने का प्रमाण मांगा जा रहा है। उन्होंने बताया कि मटकुली में सुनवाई हो चुकी है। इसके बाद नांदिया सहित लगभग 10 ग्राम पंचायतों से आवेदन आए हैं। सभी जगह सुनवाई की जाएगी। तहसीलदार बोरासी ने बताया कि लोगों जो प्रमाण दिए जा रहे हैं, वे निर्धारित समयावधि से कम के प्रमाण हैं। निर्धारित समयावधि के दौरान काबिज जमीन को लेकर जुर्माना या हटाए जाने का नोटिस जैसी किसी कार्रवाई से संबंधित दस्तावेज अगर उपलब्ध है तो उन्हें प्रस्तुत किया जाना चाहिए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कड़ी मेहनत और परीक्षा का समय है। परंतु आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल रहेंगे। बुजुर्गों का स्नेह व आशीर्वाद आपके जीवन की सबसे बड़ी पूंजी रहेगी। परिवार की सुख-सुविधाओं के प्रति भी आपक...

और पढ़ें