पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत:बिछड़ी दो बच्चियों को पोठिया स्टेशन एसएम ने मां से मिलाया

पोठिया10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मां के चढ़ने से पहले ही खुल गई थी ट्रेन

सोमवार को दो छोटी बच्चियों के साथ तैयबपुर हॉल्ट स्टेशन पर मालदा पैसेंजर ट्रेन पकड़ने आयी महिला व बच्चे आपस में बिछड़े गए। जानकारी के अनुसार बंगाल के इस्लामपुर हरिस्तटोला गांव की महिला रेखा खातून सोमवार दोपहर तैयबपुर स्टेशन पर मालदा पैसेंजर ट्रेन पकड़ने आयी थी। जब ट्रेन आई तो महिला रेखा खातून अपने दो बच्ची नेहा खातून उम्र डेढ़ वर्ष, रोशनी खातून 3 वर्ष को ट्रेन पर चढ़ाकर खुद जब ट्रेन पर चढ़ने लगी तो ट्रेन खुल गई। जिस कारण मां रेखा खातून ट्रेन पर नहीं चढ़ पाई। मां के ट्रेन में नहीं चढ़ने से दोनों बच्ची ट्रेन में बिलख-बिलख कर रोने लगी। ट्रेन पर सफर कर रहे लोगों ने बच्ची को रोते देख बच्ची को अपने पास रखकर, बच्चों के पास से एक छोटी पॉलिथीन में कागज ढूंढने लगे, जिसमें एक मोबाइल निकला, तब तक ट्रेन पोठिया रेलवे स्टेशन आ चुकी थी। जहां ट्रेन में 3 सवारियों ने दोनों बच्ची को पोठिया स्टेशन मास्टर पुरुषोत्तम झा के पास ले गए। स्टेशन मास्टर ने बच्ची के पास रखे थैले से मोबाइल निकालकर नम्बर देखा और बच्ची के मामा से बात किया। तब तक बच्ची की मां भी पोठिया स्टेशन पर पहुंच गई। पोठिया स्टेशन मास्टर ने बच्चे को मां रेखा खातून को सौंप दिया ।

खबरें और भी हैं...