पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

दुस्साहस:बाइक लूटने के लिए थाने से एक किलोमीटर दूर दिनदहाड़े युवक की गोली मारकर हत्या

पूर्णिया-चंपानगर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सदर अस्पताल में रोती-बिलखती सास।
  • चंपानगर ओपी क्षेत्र के चिरैया रहिका पुल पर बाइक सवार अपराधियों ने दिया वारदात को अंजाम
  • 7 माह पहले ही हुई थी शादी, ससुराल से बहन के यहां जा रहा था युवक

चंपानगर ओपी से महज एक किलोमीटर दूर गुरुवार दिनदहाड़े हथियार से लैस दो बाइक सवार अपराधियों ने युवक की गोली मारकर हत्या कर दी और बाइक लूटकर फरार हो गए। मृतक बाइक सवार नंदन कुमार ठाकुर (28 वर्ष) मुफस्सिल थाना क्षेत्र के भटगामा चौक निवासी विद्यानंद ठाकुर का पुत्र था। वारदात को चंपानगर ओपी क्षेत्र के चिरैया रहिका पुल पर गुरूवार की सुबह लगभग 10 बजे अंजाम दिया गया। नंदन अपने ससुराल बौसी बसेटी से अपाची बाइक से चम्पानगर अपनी बहन के यहां जा रहा था कि चिरैया रहिका पुल पर दो अपराधियों ने हथियार दिखाकर पहले युवक को पुल पर रोका। उसके बाद उसकी बाइक छीनकर भागने लगा। इतने में युवक ने बाइक छीनकर भाग रहे दोनों अपराधियों में से एक को पकड़ लिया। दोनों के बीच हाथापाई होने लगी। इसी बीच अपराधियों ने युवक को जांघ में गोली मार दी। इससे वह वहीं गिर गया और अपराधी बाइक लेकर श्रीनगर की तरफ भाग निकले। गोली की आवाज सुनकर आसपास के लोग जमा हो गए और इसकी सूचना चम्पानगर ओपी को दी। सूचना मिलते ही चम्पानगर ओपी प्रभारी रंजीत कुमार मौके पर पहुंचे और गोली से युवक को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

नदी में स्नान कर रहे बच्चे ने पूरी घटना को देखा
चम्पानगर ओपी प्रभारी रंजीत कुमार ने बताया कि मृतक युवक के भाई रंजीत कुमार ठाकुर के आवेदन में अज्ञात दो अपराधी के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है। मृतक के परिजनों ने बताया कि अपराधियों ने दो गोली मारी है। चम्पानगर ओपी प्रभारी ने यह भी बताया कि घटना के समय कारी कोशी में नहा रहे एक बच्चे ने घटना को अपनी आंख से देखा है।

घर से निकलने के आधे घंटे बाद ही किसी ने गोली मार दी
युवक नंदन की शादी 2 मार्च 2020 को बौसी बसैटी में अनिता कुमारी से हुई थी। वह पत्नी अनीता कुमारी का इंटर की परीक्षा दिलाने के लिए भटगामा से मंगलवार को ससुराल गया था। सूचना मिलते ही सबसे पहले नंदन की सास रिंकू देवी अपने परिजनों के साथ सदर अस्पताल पहुंची। लाश देखकर वह बेसुध हो गई। जब उसे होश आया तो वह भी रोने-चिल्लाने लगी। उसने कहा कि मेरे समधी के फोन आने पर मेरा दामाद अपनी बहन से भेंट करने चम्पानगर जा रहा था। हालांकि वह आज चंपानगर नहीं जाना चाहता था। फिर क्या मन में आया, वह तैयार हो गया और अपनी पत्नी को कहा कि मैं चंपानगर से घूमकर आता हूं। वे खाना खाकर चंपानगर के लिए निकले थे। आधे घंटे के अंदर ही फोन आया कि उन्हें गोली मार दी गई है।

रोते-बिलखते नंदन के पिता।
रोते-बिलखते नंदन के पिता।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज आप अपने अंदर भरपूर विश्वास व ऊर्जा महसूस करेंगे। आर्थिक पक्ष मजबूत होगा। तथा अपने सभी कार्यों को समय पर पूरा करने की भी कोशिश करेंगे। किसी नजदीकी रिश्तेदार के घर जाने की भी योजना बनेगी। तथ...

और पढ़ें