पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऑपेरशन:गलत ऑपरेशन से युवक की हालत बिगड़ने का आरोप, किया हंगामा

पूर्णिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मैक्स-7 में एक युवक का गलत ऑपेरशन का आरोप लगा परिजनों ने हंगामा किया। मामला डीएम के संज्ञान में आने के बाद उन्होंने पुलिस को जांच के लिए भेजा। जिलाधिकारी राहुल कुमार की पहल पर युवक को मैक्स-7 से डिस्चार्ज कर परिजन पटना ले गए। बताया जाता है कि बुधवार दोपहर सरसी गांव के युवक मो. तबरेज़ आलम अपनी बाइक से बुढ़िया गोला जा रहा था। रास्ते में बाइक और ट्रैक्टर के बीच आमने-सामने की टक्कर में तबरेज गंभीर रूप से घायल हो गया। परिजनों ने उसे आनन-फानन में मैक्स 7 में भर्ती करवाया। सड़क हादसे में उसका लीवर डैमेज हो गया था।

परिजनों ने बताया कि मैक्स-7 अस्पताल में जो आपरेशन गेस्ट्रो स्पेशलिस्ट को करना था, वह आपरेशन किसी जेनरल सर्जन से करवा दिया गया। 10 घंटे के अंदर ही 2 आपरेशन किए गए और 30 यूनिट ब्लड भी चढ़ाया गया। अस्पताल प्रबंधन के द्वारा मो. तबरेज के परिजन को 4 लाख से ज्यादा का बिल थमा दिया गया था। इसके बाद परिजनों ने डीएम राहुल कुमार को पूरी घटना से अवगत करवाया। जिलाधिकारी ने थाना पुलिस को मामले की जांच करने को कहा। जानकारी मिलते ही केहाट थाना के थानाध्यक्ष सह प्रशिक्षु डीएसपी आनंद मोहन गुप्ता, इंस्पेक्टर विजय प्रकाश और खजांची थाना से दल बल के साथ मौके पर पहुंचे। घटनाक्रम का जायजा लेने के बाद परिजनों की सहमति पर पेशेंट को डिस्चार्ज करवाकर अच्छे इलाज के लिए पटना भेजा गया।

मैक्स 7 अस्पताल के निदेशक डॉ मुकेश ने बताया कि मरीज जब ठीक होने लगा तो परिजन पैसा नहीं देने के कारण झूठा आरोप लगाकर यहां जबरन पुलिस प्रशासन व लोगों को इकट्ठा कर मरीज को दूसरी जगह लेकर चले गए। मरीज यहां इलाज से बेहतर हुआ था। ऐसे लोगों को अब मैक्स-7 में जगह नहीं दी जाएगी।

किस चीज का इलाज किया था इसकी जानकारी नहीं : डीएम
डीएम राहुल कुमार ने बताया कि परिजनों के द्वारा मुझे घटना की जानकारी दी गई थी। अस्पताल प्रबंधन के द्वारा किस चीज का इलाज किया गया था, इसकी जानकारी नहीं है। मामले को लेकर मैंने संबंधित थाना पुलिस को जांच के लिए कहा था। केहाट के थानाध्यक्ष आनंद मोहन गुप्ता ने बताया कि वह विधि व्यवस्था के संधारण के लिए मैक्स-7 अस्पताल गए थे। परिजनों का आरोप था कि मैक्स के चिकित्सकों द्वारा रूपए के लिए एक के बदले दो ऑपरेशन कर दिया गया है। उसका पेशेंट यहां ठीक नहीं हो सकता है। इसलिए वह पटना ले जाना चाह रहे हैं।

खबरें और भी हैं...