हर्षोंउल्लास के साथ की गई भगवान चत्रगुप्त की पूजा:पटना, पूर्णिया सहित पूरे बिहार में धूमधाम से मनी चत्रगुप्त पूजा, बांटा गया प्रसाद

पूर्णियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चित्रांश जागृति मंच, महावीर नगर, बेउर् अनीसाबाद में हर्षोंउल्लास के साथ मनाई गई भगवान चत्रगुप्त की पूजा। - Dainik Bhaskar
चित्रांश जागृति मंच, महावीर नगर, बेउर् अनीसाबाद में हर्षोंउल्लास के साथ मनाई गई भगवान चत्रगुप्त की पूजा।

प्रत्येक वर्ष की तरह इस साल भी पूरे बिहार में भगवान चित्रगुप्त की पूजा की गई। इसमें चित्रांश जागृति मंच, महावीर नगर, बेउर् अनीसाबाद ,पटना के तत्त्वावधान में शनिवार को धूम-धाम से पूजा की गई। इस दौरान सांसद राम कृपाल, पथ निर्माण विभाग मंत्री नितिन नवीन, महावीर मंदिर के सचिव बालेन्द्र शर्मा, सीबीके सिंहा, सुनील श्रीवास्तव समेत कई लोग पूजा में शामिल हुए।

वहीं, पूर्णिया के मधुबनी व पोलिटेक्शनीक चौक स्थित श्री चित्रगुप्त मंदिर में भी शनिवार को सभी कायस्थों ने भगवान चित्रगुप्त की पूजा बड़े ही धूमधाम से की। मान्यता यह है कि कार्तिक शुक्ल पक्ष द्वितीया को कायस्थ समाज के लोग कलम दवात से किसी भी प्रकार की लेखनी का कार्य नहीं करते है और न ही पूजन के बाद कलम और कागज को छूते हैं।

चित्रांश गौतम वर्मा ने बताया कि पूर्णिया में हर साल भैयादूज के दिन कायस्थ समाज के लोग कलम दवात का विधिवत पूजा करते हैं और अपने कुलश्रेष्ठ श्री चित्रगुप्त भगवान को अराधना करते हैं। गुड़ व अदरक का प्रसाद भोग लगाया जाता है।

यह प्रसाद भगवान चित्रगुप्त को मनभावक है। गौतम ने बताया कि गुंड और अदरक भगवान चित्रगुप्त को पसंद होने के साथ ही स्वास्थ्य के लिए भी काफी फायदे मंद है। इस ठंड के मौसम में गुड़ व अदरक का मिश्रण का सेवन शरीर के कफ विकार को दूर करने के साथ शरीर को गर्म भी रखता है। इसके अलावा कई तरह की बीमारी में भी यह फायदा पहुंचाता है।