आयोजन:बुरहान पीर मजार पर की गई चादरपोशी

पूर्णिया पूर्व3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बुरहान पीर मजार के पास मुरादे मांगते लोग। - Dainik Bhaskar
बुरहान पीर मजार के पास मुरादे मांगते लोग।
  • 40 वर्ष पूर्व से हाे रहा है मेले का आयोजन , बड़ी संख्या में पहुंचे लोग

पूर्णिया पूर्व प्रखंड क्षेत्र के रानीपतरा चांदीबाड़ी गांव स्थित कब्रिस्तान के समीप ख्वाजा सैय्यद बुरहान पीर मजार में हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी 27 अक्टूबर को उर्स मेले का आयोजन किया गया। इस मेले में कनैला, आगाटोला, कालीगंज, बीरपुर, मंझेलि सहित कई गांवों के ग्रामीणों ने मजार पर चादरपोशी कर मुर्गा, सिरनि चढ़ाया। ग्रामीणों ने बताया कि इस मेले का आयोजन 40 वर्ष पूर्व से की जाती है। यहां जो भी सच्चे दिल से इबादत करते हैं सब की मुरादे पूरी होती है। हमारे पूर्वजों को खाज सैय्यद बुरहान मिल्लत ने स्वप्न में उनकी मजार की सेवा करने को कहा था। तब से हमलोग उनकी मजार का सेवा करते आ रहे हैं। पूर्व विधायक अजित सरकार भी इसी मजार पर माथा टेक कर चुनाव की तैयारी में जुटे थे। उनकी भी मुरादे यहां पूरी हुई थी। मेले में हजारों संख्या में श्रद्धालु बाबा के दर्शन करने पहुंचे थे। इस मेले के आयोजन में हिन्दू और मुस्लिम दोनो समुदाय के लोगों का अहम भूमिका रहता है। वहीं सुरक्षा की दृष्टिकोण से आयोजकों द्वारा पूर्ण देखरेख की व्यवस्था की गयी थी। मुफ्फसिल प्रशासन भी पूरी तरह सजग था। मुख्य रूप से यह मेला कनैला गांव के लोगों के द्वारा लगाया जाता है। हलांकि चुनावी माहौल रहने के कारण इस वर्ष मेले में श्रद्धालुओं की संख्या हजारों की थी। वहीं चुनाव मैदान में भाग्य आजमा रहे प्रत्याशी भी पीर बाबा के मजार पर मुराद मांगने पहुंचे थे। मेला के आयोजक मो नईमुद्दीन ने बताया कि यह मेला आपसी सौहार्द का परिजय है। मेला में सभी धर्म के लोग आते हैं। इस माैके पर मो नईमउद्दीन, मो जलील, मास्टर जहुरूद्दीन, मो. प्रवेज, मो. आजाद, मो. गुलाम नबी, मो.आशिक, मो .सगीर, आदि माैजूद थे।

खबरें और भी हैं...