पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नियम की अनदेखी:केमेस्ट्री के टीचर को फिजिक्स लैब का बना दिया प्रभारी

अमित रंजन | पूर्णिया13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला स्कूल के शिक्षक ओमप्रकाश को स्कूल में मिली है 4 महत्वपूर्ण जिम्मेदारी, डीईओ ने भी मांगा स्पष्टीकरण
  • फिजिक्स में कई सीनियर शिक्षक होने के बावजूद की तैनाती
  • शिकायत के बाद भी वर्षों से पद पर तैनात

शिक्षक बनने के लिए सरकार ने एक पात्रता तय की गई है, लेकिन पूर्णिया के जिला स्कूल में आपको किसी पात्रता की जरूरत नहीं है। बस आप प्रिंसिपल के कृपापात्र बने रहें। जिला स्कूल में केमिस्ट्री के टीचर को फिजिक्स लैब का प्रभारी बनाने के साथ चार अन्य जिम्मेदारियां दी गई हैं। माध्यमिक शिक्षक ओमप्रकाश, जो केमिस्ट्री और बॉयोलॉजी के शिक्षक हैं पर इनको फिजिक्स प्रयोगशाला का प्रभारी बनाया है। इसको लेकर स्कूल के कई शिक्षकों ने कई बार प्रिंसिपल, डीएम और डीईओ को आवेदन दिया है पर अब तक कार्रवाई नहीं हुई है। शिक्षक ओमप्रकाश अभी राजकीय इंटर कॉलेज जिला स्कूल के वर्ग 10 सी वर्ग शिक्षक, भौतिक प्रयोगशाला प्रभारी, आदर्श छात्रावास अधीक्षक और बिहार मुक्त विद्यालय द्वारा संचालित अध्ययन केंद्र के सहायक कोऑर्डिनेटर पद पर कार्यरत हैं।

स्कूल में पहले से मौजूद हैं फिजिक्स व मैथ के पांच शिक्षक
राजकीय इंटर कॉलेज जिला स्कूल में फिजिक्स और मैथ के पांच शिक्षक मौजूद हैं। इसमें पिंटू कुमार झा, नीतू सिंह, मनीन्द्र कुमार विश्वास, पवन कुमार विश्वास और प्रशांत कुमार हैं। मनींद्र कुमार विश्वास को छोड़कर सभी शिक्षक ओमप्रकाश से सीनियर हैं। बता दें कि राजकीय इंटर कॉलेज जिला स्कूल में फिजिक्स के छात्रों का दो यूनिट है। प्रत्येक यूनिट में 120 छात्र-छात्राएं पढ़ती हैं। शिक्षकों ने जिलाधिकारी को आवेदन कर वित्तीय अनियमितता का भी आरोप लगाया है।

पूरे मामले पर डीईओ ने मांगा था स्पष्टीकरण
शिक्षक ओमप्रकाश के मामले पर डीईओ श्याम बाबू राम ने प्रभारी प्राचार्य से स्पष्टीकरण मांगा था। 21 मई को चिट्‌ठी लिख कहा था जिला स्कूल के जय शंकर कुमार और अन्य 37 शिक्षकों व दो परिचारियों ने आवेदन दिया है। इसमें शिक्षक ओमप्रकाश के अभद्र व्यवहार के साथ भौतिकी प्रयोगशाला प्रभारी, आदर्श छात्रावास अधीक्षक, बिहार मुक्त विवि द्वारा संचालित अध्ययन केंद्र के सहायक कोऑर्डिनेटर के रूप में कार्यरत हैं।

विद्यालय खुलने के बाद होगा समस्या का निदान
प्रभारी प्राचार्य ने डीईओ के शोकॉज का जवाब 1 जून को दिया। इसमें बताया तत्कालीन प्रभारी प्राचार्य द्वारा बैठकर ओमप्रकाश जिन पदों पर हैं, उसको छोड़ने का अनुरोध किया गया। जिसे प्रभारी प्राचार्य ने स्वीकार किया। उन पदों के विरुद्ध व्यवस्था होने तक शिक्षक ओमप्रकाश को अपने सभी पदों पर बने रहने का आदेश दिया। वर्तमान प्रभारी प्राचार्य दिवाकांत झा ने बताया कि स्कूल खुलने के बाद शिक्षकों की बैठक कर समस्या का निदान होगा।

खबरें और भी हैं...