पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सुविधा:एमडीएम चावल वितरण के दौरान बच्चों को मिलेगी आयरन फोलिक एसिड की गोली

पूर्णिया3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एनीमिया मुक्त भारत के तहत नामांकित बच्चों के बीच बंटेगी दवा

पहली से 8वीं तक के बच्चों के घरों में अब आयरन फोलिक एसिड की गोली मिलेगी। अभिभावकों को यह गोली खाद्यान्न वितरण के जरिए मिलेगी। कोरोना संक्रमण को देखते हुए बच्चों के लिए घर तक गोली पहुंचाने का निर्णय लिया गया। इससे जिले में पहली से आठवीं में नामांकित बच्चों को इसका फायदा होगा। मध्याह्न भोजन योजना ने निर्देश दिया है। जब तक स्कूल बंद हैं, तब तक प्रति बच्चा एक स्ट्रिप (15 गोली का एक पत्ता) तीन महीने के लिए अभिभावकों को दिया जाएगा। साथ ही अभिभावकों को एक्सपायरी तिथि का ध्यान रखने की हिदायत भी दी जाएगी। स्कूल में नामांकित छात्र-छात्राओं के अभिभावकों को खाद्यान्न वितरण के समय ही आयरन की गोली और इसकी संख्या समेत अन्य जानकारी हासिल कर निदेशालय को प्रतिवेदन भेजना होगा। बता दें कि राज्य के स्कूल 15 मार्च से कोरोना संकट के कारण बंद हैं। डीपीओ एमडीएम रूबी कुमारी ने बताया कि कोविड-19 संक्रमण के कारण विद्यालय बंद अवधि में वर्ग एक से आठ तक के नामांकित बच्चों के घर में आयरन फोलिक एसिड गोली की आपूर्ति और सेवन सुनिश्चित कराई जा रही है। सभी प्रखं़ड साधन सेवी व एचएम को निर्देश दिया गया है।

कोरोना के कारण स्कूल बंद रहने से नहीं हुआ था वितरण
एनीमिया मुक्त भारत के तहत विद्यालय में नामांकित बच्चों के बीच फोलिक एसिड गोली वितरण करना है। बुधवार को 5 से 9 वर्ष के बच्चों को प्रति सप्ताह एक गुलाबी गोली और 10 से 19 वर्ष तक के बच्चों को नीली गोली वितरण किया जाता है। जो कि स्कूल बंद रहने के कारण नहीं हो सका। प्रत्येक बच्चे को 15 गोली का एक पता तीन महीने के लिए दिया जाएगा। विद्यालय में एमडीएम चावल वितरण के दौरान या बच्चों के माता-पिता या अभिभावक को आयरन फोलिक एसिड गोली बच्चे की उम्र के मुताबिक दिया जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें