परेशानी:केनगर में नहर टूटने से सैकड़ों एकड़ में लगी फसल जलमग्न

पूर्णिया/ केनगर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
केनगर में रहुआ आश्रम के समीप टूटी नहर। - Dainik Bhaskar
केनगर में रहुआ आश्रम के समीप टूटी नहर।

केनगर के रहुआ आश्रम टोला व मंडल टोला के बीच बैजनाथपुर उपवितरणी 8 नंबर आरडी के समीप नाहर के पूर्वी बांध टूटने से नहर का पानी खेतों में फैल रहा है। जिससे सैकड़ों एकड़ में लगे धान की फसल जलमग्न हो गयी है। नहर टूटने से यहां के कृषक गोपाल प्रसाद, पंकज कुमार, बिट्टू कुमार, शैलेंद्र कुमार, गणेश प्रसाद आदि ने बताया कि विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के कारण नाहर का बांध प्रतिवर्ष टूटता है। नहर टूटने से किसानों द्वारा खेतों में लगा फसल बर्बाद हो जाता है। किसानों ने बताया कि मंगलवार की रात उक्त नहर टूट जाने से हमलोगों को काफी नुकसान होगा। किसानों ने बताया कि खेतों में फूटे हुए धान, दूध भरी धान, ग॔भरी धान में नहर का पानी जाने से सब धान बर्बाद हो जाएगा। फसल कुछ भी नहीं होगा। यहां के किसानों ने बताया कि पूर्व में भी नहर में पानी छोड़े जाने के बाद यह नाहर बांध जीरो से 28 आरडी के बीच कई बार टूट चुका है। इसके बाद भी विभाग इसकी मरम्मत के प्रति पुरीतरह लापरवाह बना हुआ है।

खबरें और भी हैं...