जाँच शुरू:मनीषा हत्याकांड में बेटी का बयान दर्ज

पूर्णियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 6 दिसम्बर को मनीषा सिंह की मिली थी लाश, बेटी ने की थी पहचान

मनीषा सिंह हत्या कांड में 10 दिन बाद पुलिस ने 8 वर्षीया बेटी खुशी कुमारी का 164 का बयान सीजीएम कोर्ट में दर्ज करवाया। बेटी ने 164 के बयान में घटना की सारी बात कही। मनीषा सिंह हत्या कांड में शम्स का नाम सामने आ रहा है। मुफस्सिल थाना के आईओए सुचिंद्र कुमार ने बताया कि मनीषा सिंह हत्या कांड में बेटी का 164 का बयान सीजीएम कोर्ट में दर्ज करवाया गया है। ज्ञात हो की मुफस्सिल थाना क्षेत्र के वार्ड-43 में 5 दिसम्बर को एक अज्ञात महिला की लाश की मिली थी, जिसकी पहचान मनीषा सिंह पति शिव कुमार मिश्रा के रूप में हुई थी। लाश की पहचान मृतका की 8 वर्षीया बेटी खुशी कुमार व अन्य परिजनों ने किया था। बेटी ने पहले ही दिन पुलिस व पुलिस पदाधिकारी के सामने कही थी कि मेरी मां शम्स के फोन आने के बाद घर से निकली थी। उसने पुलिस को यह भी कहा था कि शम्स उसके घर आया करता था और दीपावली के दिन उसने किसी बात को लेकर मम्मी के साथ मारपीट भी की थी। हालांकि वरीय अधिकारियों ने मनीषा सिंह की हत्या के पीछे प्रेम प्रसंग की बात कही थी। मनीषा सिंह के मोबाइल कॉल डिटेल व सीडीआर निकलने के बाद यह स्पष्ट हो जाएगा कि मनीषा सिंह किस-किस लोगों से बात करती थी और हत्या से पहले वह किससे बात की थी। मुफस्सिल थाना पुलिस ने बताया कि मनीषा सिंह हत्याकांड में जिस शम्स का नाम आ रहा है वह मछरंगा थाना क्षेत्र के मिल्की का रहने वाला है। घटना के बाद से वह फरार है। मनीषा सिंह हत्या मामले के उद्भेदन में मुफस्सिल थाना पुलिस पुरी तरह सुस्त दिख रही है।

खबरें और भी हैं...