पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निर्णय:धान की खरीदारी के लिए किसानों का होगा सर्वे, 1 से 31 अक्टूबर तक तैयार होगी सूची

पूर्णिया10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
किसानों द्वारा खेतों में लगाए गए धान की फसल। - Dainik Bhaskar
किसानों द्वारा खेतों में लगाए गए धान की फसल।
  • नवंबर से 31 जनवरी तक धान की खरीदारी, अधिक से अधिक को मिलेगा को एमएसपी का लाभ
  • साधारण धान 1940 रुपए व ए ग्रेड धान की कीमत 1960 रुपए प्रति क्विंटल निर्धारित

सहकारिता विभाग ने धान की खरीदारी को लेकर अभी से तैयारी शुरू कर दी है। इस बार जिले में 1 नवंबर से 31 जनवरी तक धान की खरीदारी होगी। सहकारिता विभाग ने खरीफ विपणन वर्ष 2021 -22 के लिए साधारण धान की कीमत 1940 रुपए प्रति क्विंटल और ए ग्रेड धान की कीमत 1960 रुपए निर्धारित किया है। धान की खरीदारी को लेकर सहकारिता विभाग ने 1 से 31 अक्टूबर के बीच धान बेचने वाले इच्छुक किसानों की सूची तैयार करने का निर्देश दिया है। धान खरीदारी के लिए किसानों का सर्वेक्षण किसान सलाहकार करेंगे। उनके द्वारा एक से लेकर 31 अक्टूबर के बीच सर्वेक्षण का कार्य पूरा किया जाएगा। किसान सलाहकार किसान की जमीन संबंधित विवरण कृषि विभाग के डेटाबेस में सम्मिलित कराते हुए इच्छुक किसानों की सूची विभागीय पोर्टल पर अपलोड करेंगे।धान की खरीदारी की तैयारी को लेकर विभाग के द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया है।बताते चलें कि पिछले साल सहकारिता विभाग के द्वारा जिले में 11106 किसानों से रिकार्ड 84507.15 एमटी धान की खरीदारी की गई थी।
1 नवंबर से 31 जनवरी तक होगी धान की खरीदारी : राज्य स्तर पर आयोजित उच्च स्तरीय बैठक में धान की अधिप्राप्ति का कार्य चरणबद्ध तरीके से कराने का निर्णय लिया गया।इस बार 1 नवंबर से 31 जनवरी 2022 तक किसानों से धान की खरीदारी की जाएगी। इसके लिए विभाग के द्वारा धान अधिप्राप्ति को इक्छुक सभी पैक्स व व्यापार मंडल का 30 सितंबर तक ऑडिट करवाने का निर्देश दिया है।साथ ही साथ धान अधिप्राप्ति के लिए 25 अक्टूबर तक जिला टास्क फ़ोर्स की बैठक करने के साथ-साथ अन्य तैयारी पूरी कर लेने का निर्देश दिया है।
अधिक से अधिक को मिलेगा किसानों को एमएसपी का लाभ : किसान सलाहकार विभिन्न स्थानीय बाजारों में धान के वर्तमान दर के बारे में सहकारिता विभाग के स्थानीय पदाधिकारी को जानकारी उपलब्ध कराएंगे।जिससे उस क्षेत्र में धान अधिप्राप्ति की और प्रभावशाली व्यवस्था सुनिश्चित की जा सके। किसान सलाहकार इच्छुक किसानों की सूची एवं भूमि संबंधित जानकारी पोर्टल पर अपलोड करेंगे। किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ ससमय सुनिश्चित कराने के लिए अधिक से अधिक किसानों से धान की खरीद की जाएगी।

फर्जीवाड़ा रोकने के लिए विभाग के पोर्टल से लिया जाएगा आंकड़ा
सहकारिता विभाग ने धान की खरीदारी में फर्जीवाड़ा को रोकने के लिए कई उपाय किए हैं।धान की खरीदारी के लिए किसानों की भूमि संबंधित आंकड़ों को वेब सर्विस के माध्यम से भू अभिलेख पोर्टल से अधिप्राप्ति पोर्टल पर प्राप्त करने के लिए कृषि विभाग द्वारा ही भूमि संबंधित आंकड़े राजस्व अभिलेख पोर्टल से प्राप्त करने का निर्देश है।साथ ही कहा है कि धान की खरीदारी वैसे ही किसानों से की जानी है जो धान बेचने को इक्छुक हैं।सहकारिता विभाग के कर्मी कृषि विभाग से प्राप्त डाटा के आधार पर यह सत्यापन करेंगे की धान बेचने वाले वास्तविक किसान हैं या नहीं। दरअसल हर साल धान खरीदारी के दौरान अक्सर यह बात सामने आता था कि धान की खरीदारी का लक्ष्य पूरा करने के लिए वास्तविक किसानों की जगह बिचौलियों से धान की खरीदारी की जाती है।
31 जनवरी तक खरीदारी होगी
खरीफ विपणन वर्ष 2021 -22 के लिए साधारण धान की कीमत 1940 रुपए प्रति क्विंटल और ए ग्रेड धान की कीमत 1960 रुपए निर्धारित किया है। इस बार 1 नवंबर से 31 जनवरी तक धान की खरीदारी का निर्देश मिला है।निर्देशानुसार तैयारी शुरू कर दी गई है।
रंजीत कुमार,जिला सहकारिता पदाधिकारी

खबरें और भी हैं...