पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाढ़ का खतरा:कोसी नदी के जलस्तर में वृद्धि से बाढ़ का खतरा

कसबा25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कोसी नदी का पानी फैलने से घरों में घुसा पानी। - Dainik Bhaskar
कोसी नदी का पानी फैलने से घरों में घुसा पानी।
  • कोसी नदी धार के आसपास बसे लोगों की लगातार निगरानी : बीडीओ

लगातार हो रही बारिश तथा कोसी नदी के जलस्तर में बढ़ोतरी होने के कारण नगर पंचायत कसबा के शांतिनगर मोहल्ले में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। इससे इन इलाकों में रहने वालों में भय समा गया है। लोगों के मन में वर्ष 2017 के बाढ़ की याद ताजा हो गई है। स्थानीय ग्रामीणों ने बताया कि जिस रफ्तार से कोसी नदी के जल स्तर में वृद्धि हो रही है तथा लगातार हो रही बारिश को देखते हुए लग रहा है कि एक-दो दिनों के अंदर बाढ़ का पानी घरों में प्रवेश कर जाएगा । इस अंदेशे के कारण लोगों के मन में काफी भय देखा जा रहा है। वहीं कसबा के प्रखंड विकास पदाधिकारी सह प्रभारी अंचलाधिकारी सुरेंद्र तांती ने बताया कि पूरी जानकारी मिली है। कोसी नदी धार के आसपास बसे लोगों की लगातार निगरानी की जा रही है।

खगजना घाट पर नए आरसीसी पुल का जल्द हो निर्माण

कसबा| कसबा प्रखंड मुख्यालय को पूर्व के चार पंचायत सहित अमौर प्रखंड को जोड़ने वाली खगजना घाट पर नए आरसीसी पुल के निर्माण की मांग स्थानीय ग्रामीणों द्वारा कसबा विधायक सह कांग्रेस विधायक दल के उप नेता मो.आफाक आलम से की है। बताते चलें कि खगजना घाट पर बनी कलभट वर्ष 2017 में आई बाढ़ में ध्वस्त हो गई थी । वर्ष 2018 में ध्वस्त कलबर्ट की मरम्मत कर उसे चलने लायक बनाया गया था। किंतु लगातार हो रही बारिश के कारण कल्वर्ट पुनः ध्वस्त होने के कगार पर है। स्थानीय लोगों ने कसबा विधायक मोटापा कलम से कल भट्ट की जगह नया पुल के निर्माण की मांग की है।

जलकुंभी से महावीर चौक पुल पर बढ़ा दबाव

कसबा| कसबा नगर पंचायत के महावीर चौक स्थित कोसी नदी धार पर बनी आरसीसी पुल के नीचे के पानी में बहकर आयी जलकुंभी का दबाव पुल के पास बना चुका है। करीब दो सौ मीटर में जलकुंभी इस पुल के पास पूर्व दिशा में रूकी हुई है। इससे पुल के पाये पर पानी व जलकुंभी का दबाव बन गया है। नदी के एक किनारे से दूसरे किनारे तक जलकुंभी भरी होने से इस जगह पर बाढ़ का पानी धीरे-धीरे निकल रहा है। साथ ही पुल पर भी खतरा मंडराने लगा है। आसपास के लोग बता रहे हैं कि जलकुंभी नहीं हटने से पूर्व तथा पश्चिम के गांवों में पानी पसर रहा है। प्रभारी अंचलाधिकारी सुरेंद्र तांती ने बताया कि जलकुंभी हटवाने की दिशा में कार्यवाही शुरू करने का निर्देश दिया गया है।

खबरें और भी हैं...