पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वनरक्षक:वनरक्षक ने पकड़वाई चोरी की लकड़ी, सादे कागज पर जब्ती सूची बनाकर चोर पर कार्रवाई के बदले वनरक्षक को ही काम से हटाया

कसबा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रेंजर ने कहा-वनरक्षक का काम संतोषजनक नहीं था, हटाने का पावर मेरे पास नहीं है

वन विभाग के वनरक्षक द्वारा चोरी की लकड़ी पकड़वाने के बाद चोरों पर कार्रवाई के बदले वनरक्षक को ही काम संतोषजनक नहीं होने व कार्यकाल पूरा होने का हवाला देकर हटा दिया गया। लखना गांव के वनरक्षक मो. मुमताज आलम ने इसकी शिकायत पूर्णिया प्रमंडल वन संरक्षक से की है।

दैनिक मजदूरी पर वर्षों से कार्यरत वनरक्षक ने बताया कि 31 मई को जनप्रतिनिधियों से सूचना मिली कि सरकारी पेड़ को हांसी के केडीसी नहर से काटकर विशनपुर पासवान टोला के मदन पासवान के यहां रखा गया है। मैंने इसकी सूचना वरीय अधिकारी को दी। रेंजर की जांच के दौरान मदन पासवान के घर से चोरी की गई लकड़ी बरामद की गई। लकड़ी चोर पर कार्रवाई की जगह मुझे डांट पड़ने लगी कि तुम कौन होते हो चोरी की लकड़ी पकड़ने वाले। इसके बाद मुझे काम से हटा दिया गया। वनरक्षक मुमताज ने बताया कि जब्त की गई लकड़ी की जब्ती सूची विभाग के फॉरमेट की जगह सादे कागज पर बनाकर रेंजर ने लकड़ी चोरी के आरोपी मदन पासवान के घर पर ही इसे रखवा दिया।

डीएफओ जांच करें तो लकड़ी माफिया और अफसरों का होगा पर्दाफाश : विधायक
कसबा विधायक मो. अफाक आलम ने कहा कि पदाधिकारी और चोरों की मिलीभगत से सरकारी पेड़ों की कटाई की जा रही है। जब वन रक्षक चोरी की लकड़ी पदाधिकारी को पकड़वाता है तो वन रक्षक को ही काम पर से हटा दिया जाता है। यह वन विभाग की कार्यशैली दर्शाता है। डीएफओ अगर खुद कसबा क्षेत्र में पेड़ों की कटाई की जांच गुप्त रूप से करें, तो लकड़ी माफिया व पदाधिकारी के कारनामे का पर्दाफाश हो जाएगा। लकड़ी माफिया की सच्चाई सामने आएगी।

मदन के घर में रखी लकड़ी की बनी है जब्ती सूची : वनपाल
वनपाल दिनेश यादव ने बताया कि मदन पासवान के घर में सरकारी पेड़ों की कटाई कर जो लकड़ी रखी गई है, उसकी जब्ती सूची बन गई है। जल्द लकड़ी चोर के ऊपर प्राथमिकी दर्ज कर उसे जेल भेजा जाएगा। विभाग कार्रवाई कर रहा है। जहां तक वनरक्षक का सवाल है, उसका कार्यकाल पूरा हो गया है। इसलिए उसे हटाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...