पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत:मई-जून में मुफ्त मिलेगा अनाज, 6 लाख लोगों को फायदा

पूर्णियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना और प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत प्रति यूनिट मिलेगा 10 किलो अनाज

कोरोना संक्रमण को लेकर जारी लॉकडाउन के बीच हर गरीबों को खाने के लिए मुफ्त अनाज मुहैया कराया जाएगा। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना और राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के तहत प्रत्येक राशन कार्डधारियों को मई माह में 10 किलो मुफ्त अनाज मिलेगा। जिले के लगभग 6 लाख राशनकार्ड वाले 30 लाख गरीब सदस्यों को इसका लाभ मिलेगा। उनके बीच मई में लगभग 1.5 करोड़ क्विंटल अनाज का वितरण जन वितरण प्रणाली द्वारा किया जाएगा। जिला आपूर्ति पदाधिकारी सुशील कुमार ने बताया कि सरकार से आवंटन मिलना शुरू हो गया है। 10 मई से राशनकार्ड धारियों के बीच अनाज का वितरण शुरू कर देने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिलाधिकारी के निर्देश पर सभी प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी को वितरण की तैयारी का निर्देश दिया गया है। कोरोना संक्रमण को लेकर सरकार ने हर गरीबों तक अनाज पहुंचाने का निर्णय लिया है ताकि कोई भूखा नहीं रह सके। इसके लिए प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत प्रति यूनिट राशनकार्ड धारी को मई और जून माह में तीन किलो चावल और दो किलो गेहूं की दर से वितरण किया जाएगा। वहीं राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना अंतर्गत राज्य सरकार ने भी मई माह में प्रति यूनिट पांच किलो अनाज वितरण करने का निर्देश दिया है। डीएसओ ने बताया कि राज्य सरकार ने फिलहाल मई माह में मुफ्त अनाज देने की घोषणा की है। इसलिए मई माह में प्रति राशनकार्ड धारी को पीडीएस से 6 किलो चावल और 4 किलो चावल यानि 10 किलो अनाज मुफ्त मिलेगा। इसके लिए सभी जनवितरण प्रणाली दुकानदारों को निर्देश दे दिया गया है।

अनाज वितरण के दौरान करना होगा कोरोना गाइडलाइन का पालन
मई और जून माह में लोगों के बीच अनाज वितरण के दौरान सरकार द्वारा जारी कोरोना गाइडलाइन के नियमों का शत-प्रतिशत अनुपालन प्रशासन कराएगा। सभी जन वितरण प्रणाली दुकानों पर उपभोक्ताओं के लिए साबुन, सेनिटाइजर की व्यवस्था करनी होगी। अधिकारियों ने कहा है कि उपभोक्ता अपने चेहरे पर मास्क लगाकर ही अनाज प्राप्त करने के लिए दुकानों पर जाएंगे। दुकानदारों द्वारा अनाज वितरण के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन किया जाएगा। अनाज वितरण व्यवस्था को पारदर्शी बनाए रखने के लिए अधिकारी लगातार मॉनिटरिंग करेंगे। डीएसओ ने बताया कि सभी प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि जन वितरण प्रणाली के माध्यम से वितरण का मॉनिटरिंग करेंगे ताकि सभी अहर्ता प्राप्त करने वाले गरीब परिवारों को मुफ्त में अनाज मिल सके। डीएम ने कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए किए जा रहे प्रयासों के क्रम में खाद्यान्न की जमाखोरी कराने का निर्देश दिया है।

खबरें और भी हैं...