पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विरोध:स्वास्थ्यकर्मी 12 से होंगे होम आइसोलेट

बैसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
काल बिल्ला लगाकर विरोध प्रदर्शन करते संविदा स्वास्थ्यकर्मी। - Dainik Bhaskar
काल बिल्ला लगाकर विरोध प्रदर्शन करते संविदा स्वास्थ्यकर्मी।
  • एनएचएम के तहत कार्यरत कर्मी ने काला बिल्ला लगा जताया विरोध

बिहार के संविदा स्वास्थ्य कर्मी के आह्वान पर पूर्णिया आरएनटीसीपी अध्यक्ष राकेश कुमार गुप्ता के नेतृत्व में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बैसा में एनएचएम के तहत कार्यरत सभी कर्मी ने काला बिल्ला लगाकर विरोध प्रदर्शन किया। अध्यक्ष ने बताया कि आज से 12 मई तक काला बिल्ला लगाकर अस्पतालों में ड्यूटी करेंगे। उन्होंने बताया कि 12 मई तक अगर मांगे पूरी नहीं होती है तो राज्यभर के सभी संविदा कर्मी होम आइसोलेशन में चले जाएंगे और ड्यूटी का बहिष्कार रखेंगे। जिला अध्यक्ष ने बताया कि हमलोगों ने पहले ही सरकार को अपनी मांगों को लेकर सूचना दे दिए थे, लेकिन सरकार हमारी किसी भी मांग को अब तक नहीं माना है। इस कोरोनाकाल में सेवा देने के दौरान कुदरा के अस्पताल में बीएचएम के पद पर तैनात बीरबल जी की मौत हो गई। उनके परिवार उन्हीं के ऊपर आश्रित था, उनके छोटे-छोटे बच्चे हैं। सरकार दोहरी नीति अपनाती है। रेगुलर कर्मियों के साथ मुख्यमंत्री ने घोषणा किया है कि किसी की कोविड- 19 के दौरान मृत्यु होता है तो एक आश्रित को नौकरी दिया जाएगा। लेकिन हमलोगों के साथ ऐसा कुछ भी नहीं है।हमसभी संविदाकर्मी दिन-रात इस कोरोना काल में अपनी जान जोखिम में डालकर सेवा दे रहे हैं। लेकिन सरकार हमलोग की बात पर ध्यान बिल्कुल नहीं दे रही है। अगर हमलोगों की मौत हो जाती है, तो हमलोगों को सरकारी लाभ नहीं मिलने वाला है।

खबरें और भी हैं...