पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फसल बर्बाद:3 हजार हेक्टेयर में मूंग की खेती, बारिश से हो रही बर्बाद

पूर्णियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मानसून के पूर्व से ही लगातार हो रही बारिश के कारण मूंग की तैयार फसल खेत में बर्बाद हो रही है। जिले में तीन हजार हेक्टेयर में मूंग की खेती हुई है, लेकिन खेत में पानी लगने से मूंग की फसल गल कर झड़ रही है। इससे मूंग की फसल को भारी क्षति पहुंची है। लगातार हो रही बारिश ने किसानों की चिंता बढ़ा दी है। किसानों को मूंग कि फसल की अच्छी पैदावार होने की उम्मीद थी। बारिश की वजह से अब मूंग की फसल खराब हो रही है, अंकुरित मूंग काली पड़ गई है।

किसानों का कहना है पहले यास तूफान ने मक्का की तैयार फसल को नुकसान पहुंचाया। इसके कारण मक्का का सही मूल्य किसानो को नहीं मिल सका। हरदा के किसान सिकंदर यादव ने बताया कि खेतों में तैयार मक्का में यास तूफान में भीग जाने की बजह से मक्के का लाइट कम हो गया। इसके करण गुलाबबाग मंडी में 1350 रुपए क्विंटल की जगह 1150 रुपए में बेचने को विवश होना पड़ा कुछ मक्का बर्बाद भी हो गया। अब लगातार हो रही बारिश से मूंग की फसल को बड़ा नुकसान हो रहा है।

रामदेली पंचायत के किसान कृष्णा कुमार ने बताया कि अभी मूंग की फसल पक कर तैयार हो गई थी, लेकिन लगातार हो रही बारिश के कारण मूंग खेतों में ही ख़राब हो रही है। जिला आत्मा निर्देशक दीपक कुमार ने बताया कि जिले के तीन हजार हेक्टेयर मूंग की खेती हुई थी।

खबरें और भी हैं...