पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तीसरी लहर की कमजोड़ तैयारी:40 दिन में तैयार करना था ऑक्सीजन प्लांट, 88 दिन बाद बनाया जा रहा बेस

पूर्णिया16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना से लड़ने के लिए ऑक्सीजन आपूर्ति को लेकर बनाया जा रहा प्लांट

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में ऑक्सीजन के लिए हाहाकार मचने के बाद सरकार बड़े अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट लगाना चाहती है ताकि संभावित तीसरी लहर में ऑक्सीजन की कमी के कारण लोगों की जान न जाय। सदर अस्पताल में 1000 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन तैयार करने की प्लांट की क्षमता होगी।

लेकिन, सदर अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट के निर्माण की कच्छप गति चिंताजनक है। अभी देश-दुनिया में कोरोना को लेकर जो हालात हैं और यहां प्लांट निर्माण की दिशा में जो कवायद हो रही है उससे यह सवाल उठना स्वाभाविक है कि हम तीसरी लहर से कैसे लड़ाई लड़ पाएंगे।

बताया जाता है कि सदर अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट तैयार करने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा 20 अप्रैल को चिट्‌ठी भेजी गई है जिसमें 40 दिनों के अंदर इसे पूरा करने का निर्देश था। अभी 88 दिन बीत जाने के बाद भी जगह का चयन करके सिर्फ बेस ही तैयार किया जा रहा है।

सदर अस्पताल परिसर में लगाया जा रहा है ऑक्सीजन प्लांट
सदर अस्पताल के पुराने आईसीयू वार्ड के बगल में ऑक्सीजन प्लांट लगाया जा रहा है। सदर अस्पताल में स्थापित होने वाली ऑक्सीजन प्लांट की क्षमता 1000 लीटर प्रति मिनट(एलपीएम) होगी। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी ने बताया कि यह ऑक्सीजन प्लांट लगने के बाद ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड में मरीज को ऑक्सीजन के फ्लो में कमी नहीं आएगी। इससे इमरजेंसी में इलाज में मदद मिलेगी।

गौरतलब है कि सदर अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट लगाने के लिए उपकरण की खरीदारी का काम निजी कंपनी के द्वारा किया जाएगा। उपकरण कब आएगा,इसकी जानकारी सदर अस्पताल प्रबंधन से जुड़े अधिकारियों को नहीं है। सदर अस्पताल के अधिकारियों का कहना है कि ऑक्सीजन प्लांट तैयार होने में अभी एक महीने से अधिक का समय लग सकता है। बिजली विभाग द्वारा भी सभी प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। ऑक्सीजन प्लांट के लिए 200 केवी का ट्रांसफार्मर लगाया जा रहा है।

प्लांट तैयार करने में अभी लग सकता है समय
स्वास्थ्य विभाग के 20 अप्रैल को जारी निर्देश में 40 दिन में प्लांट बनाने की बात कही गई है। प्लांट के लिए चिन्हित जगह पर बेस तैयार किया जा रहा है। प्लांट तैयार करने में अभी समय लग सकता है। हालांकि इसे बनाने के लिए तेजी से काम जारी है।
-ब्रजेश कुमार सिंह, डीपीएम।

खबरें और भी हैं...