मांग:अतिथि शिक्षकों को हुए भुगतान की रिकवरी व पदाधिकारी पर हो कार्रवाई

पूर्णिया7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • छात्र जदयू ने पूर्णिया विवि प्रशासन से की विभिन्न मामले में कार्रवाई की मांग

हटाए गए अतिथि शिक्षकों से भुगतान की गई राशि की रिकवरी करने की मांग हुई है। मांग छात्र जदयू ने किया है। छात्र जदयू के जिलाध्यक्ष राजू मंडल ने विज्ञप्ति जारी कर कहा कि सरकारी नियमों को दर किनार कर नियुक्ति प्रक्रिया की कमेटी में सम्मिलित जिम्मेवार पदाधिकारियों को चिह्नित कर उनके नामों पर प्राथमिकी दर्ज कर अविलंब कठोर से कठोर उचित कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए। पूर्व वर्षों से ही कहते आ रहा हूं कि पूर्णिया विश्वविद्यालय के अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति में बहुत बड़े पैमाने पर धांधली की गई है। वहीं विवि प्रशासन इस बात को मानने को तैयार तक नहीं थे। छात्र जदयू द्वारा बीते कुछ दिनों पूर्व में विश्वविद्यालय प्रशासन व सिंडिकेट सदस्यों की बैठक के दौरान सीनेट-सिंडिकेट सदस्यों का घेराव कर 10 सूत्री मांग पत्र सौंपा गया था। इसमें तमाम स्थाई शिक्षक व अतिथि शिक्षक जो अवैधानिक तरीके से विश्वविद्यालय का प्रशासनिक कार्य देख रहे हैं, उन्हें कॉलेज भेजने की मांग हुई थी। क्योंकि उनकी नियुक्ति केवल और केवल शैक्षणिक कार्य के लिए हुई है। वहीं कुछ ऐसे अतिथि शिक्षक हैं, जिनकी नियुक्ति अवैध है। वे अभी भी कार्य कर रहे हैं। साथ ही विवि द्वारा अतिथि शिक्षकों को बगैर वर्ग संचालन के ही भुगतान किया जा रहा है। इसपर अविलंब कार्रवाई हो। उक्त मांगों को विश्वविद्यालय प्रशासन व सीनेट सिंडिकेट सदस्यों ने गंभीरता पूर्वक संज्ञान में लेकर 24 घंटों के अंदर में त्वरित कार्रवाई की गई। इस मांग को पूरा करने के लिए छात्र जदयू ने कुलपति प्रो.राजनाथ यादव को सहृदय से धन्यवाद ज्ञापित करता है। अवैध नियुक्ति प्रक्रिया के लिए जिम्मेवार पदाधिकारियों पर प्राथमिकी दर्ज कर अविलंब कानूनी कार्रवाई नहीं होने पर छात्र जदयू उन दोषियों जिम्मेवार पदाधिकारियों के खिलाफ आंदोलन करने को बाध्य होंगे।

खबरें और भी हैं...