हादसा:शार्ट-सर्किट से बस में अचानक लगी आग, बाल-बाल बचे सभी 15 यात्री

पूर्णिया5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
खुश्कीबाग ओवरब्रिज पर धू-धू कर जलती बस व इनसेट में जली हुई बस। - Dainik Bhaskar
खुश्कीबाग ओवरब्रिज पर धू-धू कर जलती बस व इनसेट में जली हुई बस।
  • एक घंटे आवागमन ठप किशनगंज से पूर्णिया आ रही बस में खुश्कीबाग ओवरब्रिज पर लगी आग
  • खलासी ने बताया-शॉट सर्किट से लगी आग, दमकल की तीन गाड़ियों ने इसे बुझाई

किशनगंज से पूर्णिया आ रही समीर ट्रेवल्स बस में खुश्कीबाग ओवरब्रिज पर शार्टसर्किट से अचानक आग लग जाने से यात्रियों में अफरातफरी मच गई। संयोग था कि समय रहते सभी 15 यात्रियों को सुरक्षित बस से उतार लिया गया। घटना शनिवार सुबह की बताई जाती है। घटना में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। बताया जाता है कि बस में फायर सेफ्टी नहीं थी। दमकल की तीन गाड़ियों ने एक घंटे में आग पर काबू पाया। लगभग एक घंटे तक खुश्कीबाग ओवरब्रिज पर आवागमन पूरी तरह बाधित हो गया। गाड़ी के खलासी छोटे लाल ने बताया कि बस में आग शॉटसर्किट के कारण लगी है। किशनगंज से सुबह साढ़े चार बजे गाड़ी पूर्णिया के लिए खुली थी। पूर्णिया जीरोमाइल होते हुए बस जैसे ही खुश्कीबाग ओवरब्रिज पर चढ़ी, इंजन से अचानक धुआं निकलने लगा। यह देखते ही ड्राइवर ने बस खड़ी कर बस में सवार सभी यात्रियों को जल्दी-जल्दी नीचे उतारा। खलासी ने बताया कि उसने जल्दी से बस की बैट्री खोलकर हटा दिया। लेकिन, बस के इंजन में लगी आग बड़ी तेजी से फैलने लगी और देखते ही देखते बस धू-धू कर जलने लगी। सूचना पर बल मालिक ने अग्निशमन विभाग को सूचना दी। सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड की तीन गाड़ियां मौके पर पहुंची और बस में लगी आग को बुझाया। करीब एक घंटे में यातायात शुरू हो पाया।

बस स्टैंड से खुलने वाली अधिकांश बसें बिना अग्निशमन यंत्र के ही हो रही संचालित

जिला अग्निशमन पदाधिकारी राणा अमरेन्द्र दीपक ने बताया कि बसों में अग्निशमन यंत्र अवश्य रहना चाहिए। जब बस का परमिट लिया जाता है, तब अग्निशमन यंत्र आदि दिखाया जाता है। उन्होंने बताया कि बसों में अग्निशमन यंत्र रहना बहुत जरूरी है। अग्निशमन विभाग के कर्मी ने बताया कि बस स्टैंड से खुलने वाली अधिकांश बसें अग्निशमन यंत्र के बिना ही चलाई जा रही है।

दो साल पहले बस में लगी आग में दो लोग जिंदा जल गए थे
गौरतलब है कि दो साल पहले मुजफ्फरपुर से पूर्णिया आ रही एक बस में सुबह 4 बजे बस स्टैंड के समीप ही अचानक आग लग गई थी। इसमें दो यात्री जिन्दा जल गए थे। वहीं,आधा दर्जन से अधिक यात्रियों को मामूली चोटें आई थीं। इसके बाद बेलौरी में कटिहार से पटना जा रही एक बस में अचानक आग लग गई थी। इसमें बस के ऊपर रखी गई स्कूटी में आग लग गई थी। इस घटना में सभी यात्री सुरक्षित बच गए थे। इन घटनाओं से भी बस ऑनर सीख नहीं ले रहे हैं। बसों में अग्निशमन यंत्र नहीं रखे जा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...