पूर्णिया में दिवाली की खुशियां मातम में बदलीं:दंपती को 5 साल बाद हुई संतान; पटाखे से घर में आग लगी, डेढ़ साल के बच्चे की मौत

पूर्णियाएक महीने पहले
घटना के बाद रोती-बिलखती मां।

पूर्णिया के सदर थाना क्षेत्र अंतर्गत खुश्कीबाग में शुक्रवार सुबह पांच घर जल गए। इस घटना में झुलसने से डेढ़ साल के बच्चे की मौत हो गई। घटना रेलवे रैक प्वाॅइंट के पास कृषि फार्म झुग्गी बस्ती की है। यहां मो. अमिर खान के घर में सो रहा उनका डेढ़ साल का बेटा मो. समीर झुलस गया। समीर घर का इकलौता चिराग था। पीड़ित ने बताया कि शादी के पांच साल बाद उसे एक बेटा हुआ था। वो भी आग में जल गया।

स्थानीय लोगों के अनुसार, घर के आसपास बच्चे पटाखे फोड़ रहे थे, तभी एक पटाखा मो. अमिर खान के घर के अंदर घुस गया। इससे गैस सिलेंडर में आग लग गई। देखते ही देखते घर धूं-धूं कर जलने लगा। इसके बाद सिलेंडर ब्लास्ट कर गया। इससे अमिर के दो घर और सुरेन्द्र साह के तीन घरों में आग लग गई और देखते ही देखते पांच घर जलकर राख हो गया।

घर का इकलौता बेटा था

पीड़ित अमिर ने बताया कि डेढ़ साल का बेटा मो. समीर कमरे में सो रहा था। उनकी पत्नी गैस चूल्हे पर खाना बना रही थी। कुछ देर पहले मिट्टी लाने के लिए घर के बाहर निकली थी, तभी घर में आग लग गई। बाहर रहने के कारण वो बच्चे को बचा नहीं पाई। बताया गया कि अमिर को काफी मन्नत के बाद एक बेटा था। परिवार वालों का रो-रोकर बुरा हाल है।

फायर ब्रिगेड की गाड़ी ने आग पर पाया काबू

आग लगने के बाद अफरातफरी मच गई। इसकी सूचना लोगों ने फायर ब्रिगेड विभाग को दी। सूचना मिलने के 15 मिनट के अंदर फायर ब्रिगेड की दो गाड़ी मौके पर पहुंची और काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। लोगों ने बताया कि यदि थोड़ी देर और हो जाती तो कई लोगों के घर आग की चपेट में आ जाते।

पूर्णिया से नागेश्वर कर्ण की रिपोर्ट।