मनमर्जी:बिना स्कूल आए बनी शिक्षिका की हाजिरी, बोलीं-मेरे सहयोगी ने बना दिया होगा, सहयोगी बोले- शिक्षिका ने किया था फोन

निक्कू कुमार | चंपानगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विद्यालय के शिक्षकोपस्थिति पंजी में शिक्षिका सुनीता की बनी हाजिरी। - Dainik Bhaskar
विद्यालय के शिक्षकोपस्थिति पंजी में शिक्षिका सुनीता की बनी हाजिरी।
  • केनगर के जगनी पंचायत के प्राथमिक विद्यालय मार्कंडेय महलदार टोल सौराहा का मामला

केनगर प्रखंड के जगनी पंचायत के प्राथमिक विद्यालय मार्कंडेय महलदार टोल सौराहा में बिना स्कूल आए ही शिक्षक की उपस्थिति बन जाती है। शिक्षक के बिना स्कूल आए हाजिरी बन जाने के कारनामे का पर्दाफाश तब हुआ, जब इसी विद्यालय में ही बीते शनिवार (11 दिसंबर) को गांव के ही चंदन यादव के बेटे का विद्यालय में दोनों हाथ टूट गया था। घटना के बाद आक्रोशित परिजनों ने शिक्षकों की लगातार अनुपस्थिति व लापरवाही का आरोप लगाया था। ग्रामीणों ने शिक्षक मो. अशरफ ने बताया कि शनिवार को स्कूल में मैं अकेले विद्यालय में उपस्थित था। कोई अन्य शिक्षक मौजूद नहीं थे। इस दिन की शिक्षिका की हाजिरी बनी हुई है।

यह पहला मामला, विभाग को दूंगा इसकी जानकारी
यह पहला मामला है, जो बिना शिक्षक की उपस्थिति से हाजिरी बन गई। विभाग को अवगत कराऊंगा और जो भी विभाग का आदेश होगा, उस पर अमल किया जाएगा।
मो. तनवीर आलम, प्रधानाध्यापक

उपस्थिति कैसे दर्ज हो गई मुझे नहीं पता
उपस्थिति कैसे दर्ज हो गई मुझे नहीं पता। शायद टोला सेवक मो. अशरफ विद्यालय में थे, उन्होंने मेरी उपस्थिति बना दी होगी।
सुनीता देवी, शिक्षिका
शिक्षिका ने कहा था-कोई ऑफिसर आए तो कह देना, तबीयत खराब होने पर चली गई
शिक्षिका सुनीता देवी ने फोन करके मुझे उपस्थिति दर्ज करवाने को कहा, इसलिए मैंने बना दिया और कहा कि अगर कोई अॉफिसर आए तो कह देना आई हुई थी। तबियत खराब हो गई तो मैडम चली गई।
मो. अशरफ, टोलासेवक शिक्षक

खबरें और भी हैं...