पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पंचायत चुनाव:हर पोलिंग बूथ पर हर पद के उम्मीदवारों के लिए एक-एक वोट का होगा मॉकपोल

पूर्णिया19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पीठासीन पदाधिकारियों को प्रशिक्षण देते मास्टर ट्रेनर। - Dainik Bhaskar
पीठासीन पदाधिकारियों को प्रशिक्षण देते मास्टर ट्रेनर।
  • पीठासीन पदाधिकारियों को दो पालियों में ईवीएम व चुनाव को लेकर दिया प्रशिक्षण
  • चुनाव के दौरान पीठासीन पदाधिकारियों की भूमिका होती है काफी महत्वपूर्ण

पंचायत चुनाव को लेकर जिला प्रशासन के द्वारा तैयारी तेज कर दी गयी है। पंचायत चुनाव के मद्देनजर सोमवार से पंचायत चुनाव कर्मियों के पहले चरण की प्रक्रिया शुरू हो गई है। सोमवार को जिले के चार प्रशिक्षण केंद्र बिजेंद्र पब्लिक स्कूल, बीबीएम स्कूल, कन्या उच्च विद्यालय व डॉन बास्को स्कूल में दो पालियों में पीठासीन पदाधिकारी को ईवीएम के साथ-साथ सामान्य प्रशिक्षण की जानकारी दी गई। कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए आयोजित प्रशिक्षण के दौरान मास्टर ट्रेनरों ने पीठासीन पदाधिकारियों को उनके अधिकार और कर्तव्य के बारे में विस्तार से बताया। प्रशिक्षण के दौरान राज्यस्तरीय मास्टर ट्रेनर मोल झा ने बताया कि पहली बार ईवीएम के माध्यम से पंचायत चुनाव आयोजित होने के कारण से पीठासीन पदाधिकारियों की जिम्मेवारी बढ़ गई है। चूंकि इस बार जिला परिषद सदस्य, मुखिया समेत चार पद का चुनाव ईवीएम से आयोजित होने और दो पद का चुनाव मतपत्र से होने के कारण उन्हें दोनों की जिम्मेवारी उठानी होगी। उन्होंने बताया कि हर मतदान केंद्र पर हरेक उम्मीदवार के हिसाब से एक-एक वोट का मॉकपोल होगा। साथ ही कहा कि प्रथम मतदान अधिकारी वोटर लिस्ट और मतपत्र के प्रभारी होंगे। वहीं दूसरे मतदान पदाधिकारी के पास अमिट स्याही लगाने, मतदाता रजिस्टर व मतदाता पंजी का जिम्मा रहेगा।वहीं इस बार तीन तृतीय मतदान पदाधिकारी भी मतदान केंद्र पर रहेंगे।जिसमें से एक के पास सरपंच व पंच के बैलेट पेपर, दूसरे के पास जिला परिषद और पंचायत समिति सदस्य के कंट्रोलिंग यूनिट व तीसरे के पास मुखिया व वार्ड सदस्य के के सीयू का कंट्रोल रहेगा। मतदान खत्म होने के बाद वज्रगृह तक ईवीएम के साथ-साथ मतपेटी समेत अन्य जरूरी कागजात पहुंचाने की जिम्मेवारी भी पीठासीन पदाधिकारी की होगी। प्रशिक्षण के दौरान उन्हें ईवीएम के साथ अन्य दस्तावेजों को तैयार करने के बारे में भी विस्तार से बताया गया। मंगलवार को इन्ही प्रशिक्षण केंद्र पर प्रथम मतदान पदाधिकारी को ईवीएम व सामान्य प्रशिक्षण दिया जाएगा।

अनुमंडल एवं प्रखंड में अलग-अलग निर्वाची पदाधिकारी नियुक्त
जिला परिषद के लिए अनुमंडल पदाधिकारी नवनील कुमार कोनिर्वाची पदाधिकारी बनाया गया है।जबकि सहायक निर्वाची पदाधिकारी के रूप में भूमि सुधार उप समाहर्ता नीरज कुमार दास, अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी बलबीर दास, अनुमंडल कार्यपालक दंडाधिकारी अनिल कुमार एवं नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी चन्द्रराज प्रकाश को बनाया गया है।वहीं मुखिया, सरपंच, समिति, वार्ड सदस्य एवं पंच के लिए प्रखंड विकास पदाधिकारी सरोज कुमार को निर्वाची पदाधिकारी बनाया गया है।सहायक निर्वाची पदाधिकारी के रूप में अंचलाधिकारी अर्जुन कुमार विश्वास, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी अजय कुमार आदि बनाए गए हैं।

नामांकन को लेकर मजिस्ट्रट और पुलिस पदाधिकारी प्रतिनियुक्त
जिला परिषद के निर्वाची पदाधिकारी सह अनुमंडल पदाधिकारी नवनील कुमार ने बताया कि नामांकन के दौरानविधि व्यवस्था को लेकर विधि व्यवस्था के समूचित संधारण को लेकर 7 से 13 सितंबर तक प्रखंड कार्यालय एवं अनुमंडल कार्यालय में दंडाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी की प्रतिनियुक्त किये गए हैं।जिसमें अनुमंडल के मुख्य प्रवेश द्वार के समीप प्रखंड उद्यान पदाधिकारी सुजीत कुमार, पुलिस पदाधिकारी में सअनि धीरेंद्र राय, अनुमंडल कार्यालय प्रवेश द्वार एवं नाम निर्देशन कक्ष के पास प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी अजय कुमार, पुलिस पदाधिकारी में सअनि मो. इकबाल खां वहीं प्रखंड कार्यालय प्रवेश द्वार पर कनिय अभियंता रामस्वरूप यादव आदि प्रतिनियुक्त किए गए हैं।

खबरें और भी हैं...