कोरोना / ई-पास पर जोधपुर से आए दो युवक पॉजिटिव, एक अमौर व दूसरा बैसा का

Two youths from Jodhpur came positive on e-pass, one of Amaur and the other of Baisa
X
Two youths from Jodhpur came positive on e-pass, one of Amaur and the other of Baisa

  • 19 को जोधपुर के पीएचसी में दिया था सैंपल, 22 मई को घर पहुंचने पर मिली रिपोर्ट
  • जिस क्वारेंटाइन सेंटर में पीड़ित रह रहे थे, उसे कंटेनमेंट जोन घोषित किया

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 06:05 AM IST

पूर्णिया. अमौर एवं बैसा प्रखंड में कोरोना ने दस्तक दे दी है और दोनों प्रखंडों में एक-एक कोरोना पॉजिटिव मिला है। दोनों कोरोना पॉजिटिव युवक ई-पास लेकर 22 मई को राजस्थान के जोधपुर से आए हुए हैं। दोनों प्रखंडों में कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने की सूचना पर प्रशासन पूरी तरह अलर्ट मोड में आ गया है। जिलाधिकारी राहुल कुमार ने बताया कि जोधपुर से आए दो युवकों के कोरोना पॉजिटिव होने की सूचना मिलते ही प्रशासन ने दोनों युवकों को जिलास्तरीय आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है। स्वास्थ्य विभाग के गाइडलाइन के अनुसार एक सप्ताह के बाद फॉलोअप रिपोर्ट भेजा जाएगा। 
 प्रशासन युवक के कांटेक्ट हिस्ट्री को देख रहा है। अमौर प्रखंड के अंचलाधिकारी अनुज कुमार एवं बैसा अंचलाधिकारी चन्द्र कुमार ने बताया कि राजस्थान के जोधपुर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य पदाधिकारी ने मामले को लेकर एक पत्र मिला है। इसमें अमौर प्रखंड के एक 37 वर्षीय युवक और बैसा प्रखंड के 25 वर्षीय युवक के कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि की गई है। ये दोनों युवक ई-पास पर अपने घर आने के लिए जोधपुर के अर्बन पीएचसी कलाल कॉलोनी जोधपुर में 19 मई को सैंपल लिया गया था। दोनों युवकों का सैंपल रिपोर्ट पॉजिटिव आया था। जोधपुर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य पदाधिकारी से मिले पत्र के बाद पता चला कि कोरोना पॉजिटिव उक्त दोनों युवकों में से एक अमौर प्रखंड का निवासी है और दूसरा युवक बैसा प्रखंड का निवासी है। दोनों युवकों को जिलास्तरीय आइसोलेशन वार्ड भेजते हुए जिन क्वारेंटाइन सेंटर में पीड़ित  रह रहे थे उसे कंटेनमेंट घोषित कर दिया है। प्रशासन ने दोनों पीड़ितों की ट्रेवल हिस्ट्री को ट्रैक कर रहा है। 
क्वारेंटाइन सेंटर से हुए फरार, देर शाम बांस बिट्टी में छिपा मिला 
अमौर प्रखंड में कोरोना पॉजिटिव युवक का रिपोर्ट मिलने के बाद अमौर सीओ, बीडीओ, थानाध्यक्ष, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. एहतमामुल हक मेडिकल टीम युवक को आइसोलेशन सेंटर ले जाने के लिए सिमलबाड़ी क्वारेंटाइन सेंटर पर पहुंचे। प्रशासनिक टीम के आने की सूचना मिलते ही कोरोना पॉजिटिव युवक फरार हो चुका था। प्रशासनिक अधिकारियों ने सुबह से लेकर शाम तक पीड़ित युवक की खोजबीन की कड़ी मशक्कत के बाद शनिवार की शाम को पीड़ित युवक उसी गांव के एक बांसबिट्टी में छिपा हुआ पकड़ा गया।
गांव वालों के दबाव में किया था क्वारेंटाइन 
अमौर व बैसा सीओ ने बताया कि दोनों पीड़ित युवक 22 मई को जोधपुर राजस्थान से अपने गांव पहुंचे थे। इससे पहले ये दोनों युवक ई -पास पर अपने घर आने के लिए जोधपुर में कोरोना टेस्टिंग के लिए सैंपल दिया था, लेकिन किसी कारण रिपोर्ट आने में देरी हो गई थी और दोनों युवक रिपोर्ट आने का इंतजार नहीं करते हुए घर को रवाना हो गए। पॉजिटिव रिजल्ट आने पर जब युवक को खोजने वहां टीम पहुंची तो दोनों युवक घर पर नहीं थे। पड़ोसियों व बीएलओ द्वारा मिली जानकारी लेने पर 19 मई की शाम को ही दोनों युवक गांव चले गए थे। ज्यों ही दोनों घर पहुंचा तो रिपोर्ट आई कि दोनों युवक कोरोना पॉजिटिव है। दोनों युवक गांव आने के बाद सबसे पहले अपने घर पहुंच कर और लोगों से मिले भी। गांव वालों के दबाब में दोनों युवक अपने नजदीकी क्वारेंटाइन सेन्टर में जाकर खुद को क्वारेंटाइन कर लिया।
मुखिया ने पंचायत भवन में दोनों को किया बंद
प्रखंड के कोरोना संक्रमित युवक की सूचना मिलते ही पंचायत के मुखिया ने क्वारेंटाइन सेंटर में रह रहे कोरोना पॉजिटिव युवक को हटाकर पंचायत भवन में रख दिया था। शनिवार सुबह जैसे ही बैसा बीडीओ मयंक कुमार, थानाध्यक्ष राजेश कुमार, प्रभारी डॉ. रफी जुबेर मेडिकल टीम व विशेष एम्बुलेंस के साथ पहुंचे तो मुखिया प्रतिनिधि पीड़ित युवक प्रशासन के हवाले कर दिया। ्वारेंटाइन सेंटर और पंचायत भवन को सैनिटटाइज किया जा रहा है।
आइसोलेशन वार्ड में रखा
राजस्थान के जोधपुर से आए दो युवक को अमौर और बैसा से लाया गया है। युवक के कोरोना पॉजिटिव होने की सूचना है। दोनों युवकों को जिला स्तर पर आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है।
डॉ. मधुसूदन प्रसाद,  सीएस

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना