पहल:वाच टावरों से होगी छठ घाटों की निगरानी, दोनों साइड होगी बैरिकेडिंग

पूर्णिया25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अंचलाधिकारी और थानाध्यक्ष के साथ बैठक करते सदर एसडीओ। - Dainik Bhaskar
अंचलाधिकारी और थानाध्यक्ष के साथ बैठक करते सदर एसडीओ।
  • नगर निगम क्षेत्र के सभी प्रमुख घाटों पर लाइटिंग की व्यवस्था, बनेगा ड्रॉप गेट
  • विधि-व्यवस्था को लेकर सदर एसडीओ ने सीओ व थानाध्यक्षों के साथ की बैठक

सोमवार को नहाय-खाय के साथ लोक आस्था का महापर्व छठ शुरू हो जाएगा। कोरोना महामारी को देखते हुए जिले में सतर्कता के साथ छठ महापर्व मनाने की प्रशासनिक तैयारी है। घाटों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना अनिवार्य कर दिया गया है। छठ पूजा को लेकर शहर के प्रमुख ऐसे छठ घाट जहां ज्यादा श्रद्धालु छठ मनाने पहुंचते हैं, वहां वाच टावर का निर्माण किया जा रहा है। वाच टावरों से छठ घाटों की निगरानी की जाएगी। वहीं, महत्वपूर्ण घाटों पर दोनों साइड बैरिकेडिंग भी होगी। जिला प्रशासन खतरनाक घाटों को चिन्हित करने में जुटा है ताकि उन घाटों पर बैरिकेडिंग की जा सके। छठ पूजा की पूर्व तैयारी को लेकर शनिवार को सदर एसडीओ राकेश रमण व सदर एसडीपीओ सुरेन्द्र कुमार सरोज ने नगर निगम क्षेत्र के सभी प्रमुख घाटों का निरीक्षण करने के साथ-साथ अनुमंडल क्षेत्र के सभी अंचलाधिकारियों और थानाध्यक्षों के साथ बैठक की। सदर एसडीओ ने बताया कि नगर निगम क्षेत्र के सभी महत्वपूर्ण घाटों पर दोनों साइड बैरिकेडिंग की व्यवस्था रहेगी ताकि श्रद्धालुओं को किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं हो। उन्होंने बताया कि नगर निगम क्षेत्र के सभी प्रमुख घाटों पर लाइटिंग की व्यवस्था रहेगी। इसके अलावा घाटों पर श्रद्धालुओं को आने-जाने में किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो,इसकी भी व्यवस्था की जा रही है।

छठ घाटों पर कोविड-19 के टीकाकरण का होगा प्रचार-प्रसार, लगेगा शिविर
सदर एसडीओ राकेश रमण ने बताया कि छठ पूजा को लेकर शहर के प्रमुख छठ घाटों पर जहां ज्यादा श्रद्धालु छठ मनाने पहुंचते हैं, वहां वाच टावर का निर्माण किया जा रहा है। छठ घाटों की सुरक्षा के मद्देनजर सिटी काली मंदिर,सौरा नदी तट पर पर 3,पक्की तालाब छठ घाट पर 2 और बैलौरी छठ घाट पर भी 2 वाच टावर बनाया जाएगा। इसके साथ ही महत्वपूर्ण छठ घाटों पर अनाउंसमेंट की भी व्यवस्था रहेगी। इसके माध्यम से कोविड-19 टीकाकरण का प्रचार-प्रसार व छठ घाट पर सुरक्षा के दृष्टिकोण से क्या करें व क्या न करें, इसके प्रति भी लोगों को जागरूक किया जाएगा।

कप्तान पुल के पास वाला घाट काफी खतरनाक
सदर एसडीओ ने बताया कि जिला प्रशासन के द्वारा लोगों से खतरनाक घाटों पर छठ नहीं मनाने की अपील की गई है। उन्होंने बताया कि वैसे तो प्रशासन के द्वारा महत्वपूर्ण घाटों पर बैरिकेडिंग के अलावा एसडीआररफ की टीम व गोताखोर की प्रतिनियुक्ति की जा रही है। लेकिन, कप्तान पुल के पास वाला घाट काफी खतरनाक है।

छठ घाटों पर पुलिस बलों के साथ-साथ दंडाधिकारी को नियुक्त करने का निर्देश
जिला प्रशासन के द्वारा प्रमुख छठ घाटों के पास पार्किंग की भी व्यवस्था की जा रही है। सिटी काली मंदिर स्थित सौरा नदी छठ घाट के पास कसबा की तरफ से आने वाले लोगों के लिए श्रीधाम मंदिर व रामबाग की तरफ से जाने वाले लोगों के लिए महामाया मंदिर के पास पार्किंग की व्यवस्था की जा रही है। इसके अलावा पक्की घाट छठ तालाब के लिए लायंस क्लब के पास व एनएच की तरफ से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए एनसीसी ग्राउंड में पार्किंग की व्यवस्था हो रही है। इसके साथ ही प्रशासन द्वारा जगह-जगह ड्रॉप गेट का भी निर्माण करवाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...