सत्संग का आयोजन किया:गुरु की पूजा करने से सभी देवताओं की होती है पूजा

पूर्णियाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

शहर के नेवालाल चौक स्थित संतमत सत्संग आश्रम में एक दिवसीय संतमत सत्संग का आयोजन किया गया। संतमत सत्संग आश्रम नेवालाल चौक के व्यवस्थापक पूज्य रामचंद्र बाबा ने बताया कि गुरु पूर्णिमा के अवसर पर सोशल डिस्टेसिंग का पालन करते हुए एक दिवसीय संतमत सत्संग का आयोजन किया गया। उन्होंने अपने प्रवचन में कहा कि गुरु सबसे श्रेष्ठ होते हैं। संत महात्मा कहते हैं कि गुरु पूजे सब देवन पूजे गुरु सेवा सब सेवा। यानी अगर लोग गुरु की पूजा करते हैं, तो सभी देवताओं की पूजा हो गई। क्योंकि परमात्मा को बताने वाले गुरु होते हैं। भौतिक व आध्यात्म क्षेत्र में जो भी आगे बढ़ें हैं। उनके पीछे उनके गुरु का हाथ होता है। इस लिए गुरु की पूजा सर्वश्रेष्ठ पूजा है। उन्होंने उपस्थित सत्संग प्रेमियों से कोरोना महामारी से बचने के लिए अपने हाथों को साबून से धोने एवं घर से बाहर निकलने पर मास्क का उपयोग करने की अपील की।

खबरें और भी हैं...