पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मामले की जानकारी:महादलित विकास योजना से खरीदी गई जमीन पर बनेगा लाभुकों का घर

रानीगंज20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • वर्ष 2016 में सरकार द्वारा खरीदी गई थी जमीन, लाभुक अबतक थे वंचित

रानीगंज प्रखंड के बगुलाहा पंचायत में 6 वर्ष पूर्व महादलित विकास योजना के अंतर्गत पूर्व अंचल अधिकारी सत्येंद्र नारायण सिंह के द्वारा बगुलाहा पंचायत के जमींदार सह पूर्व मुखिया सुनील सिंह से कुल 138 डिसमिल जमीन को खरीद किया। जिस जमीन को 25 महादलितों को मुहैया करवाना था। लेकिन सभी पर्चाधारी को छह वर्ष बीत जाने के बाद भी न ही पर्चा मिला न ही जमीन पर घर बना पाए। महादलित लोग वर्षों से अंचल कार्यालय का चक्कर लगाकर थक गए, लेकिन उनलोगों का कोई कागजात नहीं मिल पाया। थक हारकर महादलित परिवारों ने मामले की जानकारी वर्तमान मुखिया प्रिंस विक्टर को दिया।

जिसके बाद अथक प्रयास करके प्रिंस विक्टर ने जिला से कागजात निकाल कर महादलित परिवारों को दिया। जिस कागजात में महादलित परिवारों के नाम से पांच-पांच डिसमिल जमीन स्पष्ट रूप से लिखा है, लेकिन उस जमीन पर महादलित का आशियाना नहीं बन पाया। सबसे ज्यादा अचंभित करने वाली बात तो यह है कि सामुदायिक भवन के लिए खरीदे गये 22 डिसमिल जमीन को भी जमींदार ने 6 वर्षों से अपने कब्जे में रखा है। महादलित को सामुदायिक भवन नसीब नहीं हो पाया। इस कड़ी में बुधवार को वर्तमान मुखिया ने सरकार द्वारा दिये गये जमीन का कागजात महादलित परिवार को सौंपा। जमीन का कागजात मिलने के बाद महादलितों परिवारों में काफी खुशी देखी गई ।

इन महादलितों के बीच अब सामुदायिक भवन बनने की जगी आस : इन महादलित परिवारों में रानी देवी, दीना देवी, बिमला देवी, जयमाला देवी, खोनिया देवी, शुशीला देवी, रेवनी देवी, रीता देवी, अमेरिका देवी, कंचन देवी, कुंन्दन देवी, रंजन देवी, कारी देवी, शोभा देवी, हवा देवी, ननकी देवी, तारा देवी, मीणा देवी, रूबी देवी, संझा देवी को उनके कागजात को मुखिया द्वारा सौंपा गया।

खबरें और भी हैं...