अच्छी पहल / लॉकडाउन अवधि में महिला हेल्पलाइन के 11 में 10 मामलों का हुआ निष्पादन

10 out of 11 cases of women helpline executed during lockdown period
X
10 out of 11 cases of women helpline executed during lockdown period

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 05:00 AM IST

सहरसा. कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर लागू देशव्यापी लॉकडाउन अब खत्म हो गया है, लेकिन इस दौरान भी महिला अत्याचार एवं घरेलू हिंसा घटित होते रही है। पूरे लॉकडाउन अवधि में वन स्टॉप सेंटर सह महिला हेल्प लाइन सहरसा में 23 मार्च से 31 मई तक सभी प्रकार के कुल 11 मामले प्रतिवेदित हुए हैं।  जिनमें  4 घरेलू हिंसा, एक साइबर क्राईम, एक नाबालिग बच्ची के साथ छेड़छाड़ एवं 6 अन्य सहित 10 मामलों का निष्पादन कर दिया गया। इन मामलों में एक मामला नाबालिग बच्ची के साथ छेड़छाड़ की है।

इस मामले की शिकायत के 20 दिन बाद भी बिहरा थाना पुलिस आरोपियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज नहीं कर रही है। जबकि सखी वन स्टॉप सेंटर सह महिला हेल्प लाइन सहरसा की प्रबंधक मुक्ति श्रीवास्तव ने 13 मई को एसपी को पत्र भेजकर आरोपियों पर कानूनी शिकंजा कसने के लिए प्राथमिकी दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की अनुरोध की है।  यह घटना 8 मई को ही घटित हुई थी। सखी वन स्टॉप सेंटर सह महिला हेल्प लाइन लॉकडाउन में मोबाइल से महिला अत्याचार एवं घरेलू हिंसा के 7 मामले प्रतिवेदित हुए। जिनमें 4 मामलों में दोनों पक्षों के बीच सुलह भी करवाने का काम किया गया। 18 जुलाई 2019 से संचालित सखी वन स्टॉप सेंटर में 31 मार्च 2020 तक कुल 109 वाद दर्ज किए गए। जिनमें 89 वाद का निष्पादन कर लिया गया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना