सहरसा रिफ्यूजी कॉलोनी कांड में 6 गिरफ्तार:जमीन विवाद में नहीं, पुरानी रंजिश के कारण हुई छोटू की हत्या; मास्टरमाइंड की तलाश में छापेमारी

सहरसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एसपी ने कहा कि उपद्रव और आगजनी के मामले में एक और प्राथमिकी भवेश पासवान के बयान पर दर्ज हुई है। - Dainik Bhaskar
एसपी ने कहा कि उपद्रव और आगजनी के मामले में एक और प्राथमिकी भवेश पासवान के बयान पर दर्ज हुई है।

सहरसा में जमीन विवाद में रविवार की शाम हुई हत्या और आगजनी की घटना की दशा और दिशा पूरी तरह बदल गई है। सहरसा एसपी लिपि सिंह ने कहा कि छोटे यादव की हत्या जमीन विवाद मे नहीं बल्कि पुरानी रंजिश में की गई है। इस हत्यकांड में शामिल छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जबकि पुलिस के मुताबिक, इस घटना का मास्टरमाइंड और मुख्य आरोपी इंदल यादव फरार है।

मंगलवार को एसपी लिपि सिंह ने मीडिया से बातचीत में कथित तौर पर हत्याकांड के मुख्य आरोपी भवेश पासवान को क्लीन चिट दे दी है। एसपी ने कहा कि बटराहा निवासी गोपी किशन उर्फ छोटे ने इंदल के दोस्त अजीत यादव की हत्या की थी। उस हत्याकांड का बदला लेने के लिए इंदल ने उस वक्त साजिश रची, जब बनारसी पासवान के पुत्र विकास पासवान और राजीव पासवान ने भवेश पासवान के साथ अपने पिता बनारसी पासवान के चल रहे भूमि विवाद को लेकर मदद मांगी।

इंदल को छोटू पर अजीत की हत्या का शक था। इसलिए उसने पहले से मृतक छोटे के साथ दोस्ती कर ली थी। भवेश और बनारसी के जमीन विवाद की आड़ में इंदल ने छोटे को बुलाया और बनारसी पासवान के घर के पास बांसबाड़ी में रणवीर यादव, सुमन साह, राजीव पासवान, विकास पासवान के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दोस्तों के साथ फरार हो गया। उसके बटराहा और कहरा पासवान टोला के कुछ युवकों को आगे कर बांसवाडी से शव को भवेश पासवान के घर के आगे रखकर उपद्रव और आगजनी की गई थी।

एसपी ने कहा कि उपद्रव और आगजनी के मामले में एक और प्राथमिकी भवेश पासवान के बयान पर दर्ज हुई है। इस मामले में अजय पासवान और शिव सत्यम कुमार को गिरफ्तार किया गया है। भवेश के घर से जो कागजात बरामद हुए है, उसकी जांच की जा रही है।