एक कट्ठा जमीन के लिए भाई का मर्डर:सहरसा में हाईवे पर मौसेरे भाई ने स्कॉर्पियो से कुचला, और हाथ हिलाते हुए फरार हो गया

सहरसा7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घटना के बाद रोते-बिलखते परिजन। - Dainik Bhaskar
घटना के बाद रोते-बिलखते परिजन।

सहरसा में एक कट्‌ठा जमीन के लिए भाई ने भाई को स्कॉर्पियो से कुचलकर मार डाला। घटना बुधवार आधी रात की है। मृतक की पहचान विक्रम भारती उर्फ सोनू के रूप में हुई है, जो पेश से पत्रकार हैं। परिजनों का कहना है, 'सोनू ने मरने से पहले फोन पर अपने मौसेरे भाई पर कुचलने का आरोप लगाया था। बुधवार रात वह शहर से अपने गांव गोलमा में श्राद्ध का भोज खाने जा रहे थे। इसी दौरान चंदौर गांव के पास सहरसा-सोनवर्षा हाईवे पर मौसेरे भाई ने स्कॉपियो से कुचल दिया और हाथ हिलाते हुए फरार हो गया।'

घटना के बाद इलाके में हड़कंप मच गया। आसपास के लोगों की भीड़ लग गई। स्थानीय लोगों ने विक्रम को स्थानीय अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां उसकी मौत हो गई। इधर, घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची। एसडीपीओ संतोष कुमार ने कहा कि सौर बाजार थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच कर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

चाचा मुकेश कुमार ने बताया, 'सहरसा के नया बाजार में विक्रम का एक कट्ठा का प्लाट है। नया बाजार में ही उसका मौसेरा भाई आमोद भगत रहता है। वही जमीन की देखरेख करता था। किंतु, उसकी नीयत में खोट आ गई और वह जमीन पर कब्जा करने लगा। मामला जिलाधिकारी के न्यायालय में पहुंचा। न्यायालय से सोनू जीत गया। तब से आमोद, सोनू को जान से मारने की धमकी दे रहा था। मृतक ने इसको लेकर थाने में सनहा भी दर्ज करा रखा था।'

भोज में नहीं दिखने पर चाचा ने किया फोन

पत्नी खुशबू कुमारी ने बताया, 'सोनू को भोज में नहीं देखकर चाचा ने फोन किया। फोन किसी दूसरे व्यक्ति ने उठाया और उसने दुर्घटना की सूचना देते हुए कहा कि उसे सौर बाजार अस्पताल ले जा रहे हैं। पीछे से गांव के दो लोग भी गोलमा आ रहे थे। सोनू की बाइक सड़क पर देखी तो लोगों से पूछताछ की। फिर वो लोग भी सौर बाजार अस्पताल पहुंचे। सोनू दर्द से कराह रहा था। उसने पूरा घटनाक्रम बताया। इतना ही नहीं उसने अपने मोबाइल से सौर बाजार थाना को भी आमोद द्वारा स्कॉर्पियो से कुचले जाने के बारे में बताया। फिर उसकी हालत बिगड़ने लगी। उसे सदर अस्पताल रेफर किया गया। किंतु, रास्ते में ही उसकी मौत हो गई।'

खबरें और भी हैं...