पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सख्ती:लाभुकों को दिए जाने वाले चावल की सीओ ने की जांच

राजनपुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लाभुकों ने कहा : चावल खाने लायक नहीं है इसीलिए अनाज बदलना पड़ता है

शुक्रवार को भास्कर में छपी खबर का संज्ञान लेते हुए सदर एसडीओ शंभूनाथ झा ने जिला पदाधिकारी के निर्देश के आलोक में सदर से संबंधित सभी एमओ को जन वितरण प्रणाली दुकानदारों के यहां जाकर खाद्यान्न की गुणवत्ता की जांच करने का निर्देश दिया। जिसके बाद महिषी सीओ सह बीएसओ देवनंदन सिंह ने स्थल पर पहुंचकर जांच की। इस दौरान सीओ ने डीलर के यहां से लाभुक को दिया गया टूटा सड़ा अरवा चावल की गुणवत्ता की जांच की। साथ ही उच्चाधिकारियों से मिले निर्देश में कहा गया कि गांव पहुंचकर जो व्यापारी लाभुक से सरकार द्वारा दिया गया मुफ्त चावल वापस आधी कीमत पर ले रहे उसके पास कारोबार का लाइसेंस है या नहीं। जिसके उपरांत शुक्रवार को राजनपुर पहुंचे। सीओ को वहां मौजूद दर्जनों लाभुकों में मो. रकीम, मो. अजहर, रेबुन खातून सहित दर्जनों लाभुक कहने लगे कि अरवा चावल टूटा व सड़ा है। खाने लायक ही नहीं है। उसे हम लोग चावल खरीदने वालों के हाथ आधी कीमत पर बेच देते हैं या चावल बदल लेते हैं। यह सुनकर सीओ भी हैरान हो गए। उसके बाद सीओ डीलर जगदीश भगत के यहां पहुंचे तथा खुले हुए दुकान से चावल का नमूना लिया तथा अपने कर्मियों को लाल कपड़ा खरीद कर उसमें पैक करने की बात बताई। सीओ देवनंदन सिंह ने कहा कि सदर एसडीओ के आदेश के आलोक में चावल का नमूना लिया है।

खबरें और भी हैं...