पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना से जीत:ऑक्सीजन लेवल बरकरार रख कोरोना से पाई मुक्ति

सहरसा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • संक्रमण के दौरान बबीता सिंह को अस्पताल जाने की नौबत आ गई थी तब लिया धैर्य से काम
  • संक्रमण के दौरान बुखार 102 तक था व कमजोरी भी होती थी महसूस

कोरोना को पराजित करने वाली बबिता सिंह समाहरणालय कर्मी व साहित्यकार मुक्तेश्वर प्रसाद सिंह की पत्नी की स्थिति ऐसी खराब हो दई थी कि परिजन उनकी खराब हालत को देखते हुए बेहतर इलाज के लिए बाहर जाने की तैयारी कर रहे थे। लेकिन बबीता सिंह का आत्मबल एवं धैर्य ने उन्हें बाहर जाने से रोक दिया। आपबीती बताते हुए उन्होंने कहा पहली बार 21 अप्रैल को बुखार आया। मैंने इसे कोरोना का एक लक्षण मान तुरंत स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी प्रेसक्राइब दवा की खुराक गाइडलाइन के अनुसार लेना शुरू किया। मेरे पति दवा और परहेज का पूर्ण ख्याल रख रहे थे। 23 अप्रैल को मेरा पुत्र जयवर्द्धन चौहान भी सहरसा आ गया। इसी बीच मेरा भतीजा विनीत सिंह और उसकी पत्नी ने मेरे डाइट को संभाला।
दवा तो खा ही रही थी पर बुखार घटता और पुन: 102 तक पहुंच जाता। 25 अप्रैल को रैपिड एंटीजन टेस्ट कराया। रिपोर्ट पॉजिटिव आई। मेरे साथ सभी देखभाल कर्ता ने भी जांच करायी, चारों निगेटिव थे। कोरोना पॉजिटिव होने के बाद नेबुलाइजर से तीन चार बार भाप लेने लगी, गर्म पानी में सेंधा नमक, हल्दी डाल गार्गिल भी कर रही थी। बुखार घट नहीं रहा था। इसके बाद सूखी खांसी भी होने लगी। डॉक्टर की सलाह पर फिर कई दवाई ली। लेकिन खास सुधार नहीं होता देख एम्स के एक परिचित डॉक्टर की मदद ली। उन्होंने एलएमडब्लूएच सूई जीरो क्लाट 40 एमजी बाहर से किसी तरह उपलब्ध कराया। तमाम तहर की दवाईयां लेने के बाद दो दिन बाद एचआर सीटी स्कैन थोरैक्स भी हुआ, स्कोर था 9/25 माइल्ड लंग्स इन्फेक्शन। थोड़ी कमजोरी महसूस हो रही थी लेकिन डॉक्टर की सलाह के अनुसार दवा लिया और फिर कुछ ठीक लगने लगा।

पांच दिन बाद ऑक्सीजन लेवल 98 निकला

काफी परहेज और सावधानी बरते के बाद आखिरकार पांच दिन के बाद अन्य सभी कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए चार मई को ही ऑक्सीमीटर से जांच किया तो ऑक्सीजन लेवल 97-98 निकला। इसके अलावा बुखार 97 डिग्री था। खांसी भी घट गई। सुगंध और स्वाद लौट आया। एम्स के डाक्टर ने पुन: सलाह दी, अब कोई कफ सीरप लेना है। गिरिलिंक्टस सीरप तीन टाइम ले रही हूं। खांसी छूट गई है। गुरुवार को मैंने रैपिड एंटीजन टेस्ट कराया। रिपोर्ट नेगेटिव आई।

खबरें और भी हैं...