सहरसा के कपड़ा व्यवसायी संजीत अग्रवाल की पटना में मौत:जेल में बंद भाई ने कराया था हमला, महीने भर इलाज के बाद गई जान

सहरसाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
संजीत अग्रवाल और उनकी पत्नी की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
संजीत अग्रवाल और उनकी पत्नी की फाइल फोटो।

सहरसा में पिछले माह भाड़े के अपराधियों की गोली का शिकार हुए कपड़ा व्यवसायी संजीत अग्रवाल उर्फ गुड्डू की गुरुवार की देर शाम पटना में इलाज के दौरान मौत हो गई। सदर थाना क्षेत्र के रमेश झा रोड में 12 नवम्बर की रात अपराधियों ने उन्हें अपनी गोली का निशाना बनाया था। उनके ऊपर उस वक़्त हमला किया गया था, जब वो अपनी दुकान अमरदीप वस्त्रालय बंद कर घर लौट रहे थे। उन्हें इलाज के लिए स्थानीय निजी क्लिनिक में भर्ती कराया गया। बाद में उन्हें बेहतर इलाज के लिए पटना भेज दिया गया, जहां उनकी मौत हो गई।

इससे पहले संजीत ने अपने उपर कराये गए जानलेवा हमले का इल्जाम जेल में बंद अपने भाई सुनील अग्रवाल और अपनी भाभी पर लगाया था। इसके बाद मोबाइल सर्विलांस और घटनास्थल से जुटाए गए साक्ष्य के आधार पर अंकित आनंद को हमले में इस्तेमाल किए गए पिस्टल के साथ गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। पुलिस अनुसंधान में पता चला कि इस हमले की साजिश जेल में बंद उसके भाई सुनील अग्रवाल ने अभिजित सिंह के साथ मिलकर रची थी। अभिजित भी जेल में ही था।

बाद में अभिजित के कहने पर गोलू सिंह, अंकित आनंद, अभय सिंह और आशीष सिंह ने मिलकर संजीत के उपर हमला किया था। इस हमले में दो हथियार का इस्तेमाल हुआ था। इसमें से एक को पुलिस ने बरामद कर लिया था।