पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रेम-प्रसंग में सुसाइड:सहरसा के युवक ने टाटा के भाजपा ऑफिस में प्रेमिका को किया वीडियो कॉल, फिर कनपट्‌टी में मारी गोली

नवहट्‌टा(सहरसा)/जमशेदपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
घटना के बाद साकची टैंक रोड स्थित भाजपा ऑफिस के बाहर पुलिस जवान। - Dainik Bhaskar
घटना के बाद साकची टैंक रोड स्थित भाजपा ऑफिस के बाहर पुलिस जवान।
  • नवहट्टा के सुरंजन मिश्रा ने जमशेदपुर साकची टैंक रोड स्थित कार्यालय में की आत्महत्या
  • नवहट्‌टा के बलवा गांव का रहने वाला था सुरंजन, टाटा में भांजा हैं भाजपा के पूर्व मंडलध्यक्ष

सहरसा के नवहट्‌टा प्रखंड के नवहट्‌टा पश्चिमी नगर पंचायत के बलवा गांव निवासी स्वर्गीय नर्सिंग मिश्रा के पुत्र सुरंजन मिश्रा ने जमशेदपुर के साकची टैंक रोड स्थित भाजपा कार्यालय में गोली मारकर खुदकुशी कर ली। सुरंजन पूर्व मंडलाध्यक्ष धनंजय राय के मामा थे। अविवाहित सुरंजन ने प्रेम-प्रसंग में कदम उठाया है। वो जिस लड़की से प्यार करता था, उसको परिवार ने स्वीकार नहीं किया। इसको लेकर चार दिनों से तनाव में था। बीती रात उसकी भाभी से फोन पर विवाद हुआ था। घटना से पहले सुरंजन ने टेबल पर बोतल से टिकाकर मोबाइल रख वीडियो कॉल पर प्रेमिका से बातचीत की। सुरंजन मूलरूप से बिहार के सहरसा का रहने वाला था। पिछले चार-पांच साल से वो भांजा के घर पर रहकर शीतला मंदिर चौक के पास टेंपो की लाइन टेकरी करता था। भांजा धनंजय उलीडीह शंकोसाई रोड पांच में रहता है। इधर, सुरंजन का शव बुधवार को सवा दो बजे भाजपा कार्यालय में टेबल के पास कुर्सी पर बैठे अवस्था में मिला। दाएं हाथ में पिस्टल था। दाएं कान के ऊपर गोली का निशान है। जिस कमरे में गोली चली, उसके बगल वाले कमरे में चंदन मंडल (कुली) सोया था। पुलिस ने पहुंचकर कुली को जगाया। चंदन के मुताबिक उसने गोली चलने की आवाज तक नहीं सुनी। इधर, धनंजय को घटना की जानकारी तब हुई, जब उसके मामा घर खाना खाने नहीं पहुंचे व फोन रिसीव नहीं कर रहे थे। धनंजय ने अमर नामक युवक को कार्यालय भेजा। अमर ने सुरंजन को मृत देख घटना की जानकारी परिजनों को दी। सिटी एसपी सुभाष चंद्र जाट, एएसपी सिटी कुमार गौरव व साकची थानेदार कुणाल कुमार ने चंदन व मृतक के भांजा धनंजय राय से पूछताछ की। कार्यालय की तस्वीरें ली व फॉरेंसिक टीम ने घटनास्थल का फिंगरप्रिंट लिया। वहां से मृतक का मोबाइल, एक खोखा व घटना में इस्तेमाल पिस्टल जब्त किया है। खून का नमूना भी जांच के लिए लिया है। तीन घंटे तक सभी बिंदू पर जांच के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

पिस्टल कहां से आया, किसी को पता नहीं
मृतक ने पिस्टल किससे ली, इसकी छानबीन चल रही है। मृतक के घर से निकलने व दिनचर्या के बारे में पता लगाया जा रहा है। टेंपो स्टैंड में दिनभर में वे किससे मिले व कार्यालय पर उनसे कौन-कौन मिलने आया था, इसकी जांच जारी है। आस-पास का सीसीटीवी फुटेज भी खंगाला जा रहा है। मोबाइल का कॉल डिटेल भी पुलिस जांच कर रही है।

पूर्व मंडलाध्यक्ष धनंजय ने कहा- मामा चार दिन से काफी तनाव में रह रहे थे
धनंजय ने कहा- मामा चार-पांच साल से मेरे घर पर रहते थे। टेंपो स्टैंड में लाइन टेकरी करते थे। रोजाना सुबह घर से 10 बजे स्कूटी से आना-जाना करते थे। अक्सर हमारी बैठकी साकची भाजपा कार्यालय में होती है। बुधवार सुबह नौ बजे रोजाना की तरह कार्यालय खुला, जिसके सामने स्कूटी खड़ी कर मामा अपने काम पर चले गए। मैंने दिन के एक बजे मामा को फोन कर खाना खाने के लिए घर बुलाया। मामा ने कहा - मैं आधा घंटे में पहुंच जाउंगा। पौने दो बजे तक घर नहीं पहुंचने पर मैंने मामा को फोन किया। लेकिन फोन रिसीव नहीं हुआ। मामा चार दिनों से तनाव में थे। बीती रात में उनका गांव में बड़ी भाभी के साथ अनबन हुआ।

11 बजे सो गए, उस वक्त एक व्यक्ति मामा से मिलने आया था : कुली चंदन
घटना के वक्त कार्यालय में सोए कुली चंदन ने पुलिस को बताया कि सुरंजन को सभी मामा बोलते थे। बुधवार को काम करने के बाद मैं सुबह 11 बजे भाजपा कार्यालय पहुंचा। वहां मामा बैठे थे। मैंने मामा को कहा कि मैं थक गया हूं। थोड़ा आराम करने आया हूं। इसी वक्त एक व्यक्ति मामा से मिलने आया था। वह कुछ देर रुका व चला गया। इसके बाद पुलिस आई और मुझे उठाया। मैंने गोली चलने की आवाज नहीं सुनी। पुलिस के आने पर पता चला कि मामा ने खुद को गोली मार ली।

भाजपा ऑफिस में कुर्सी पर पड़ा सुरंजन का शव।
भाजपा ऑफिस में कुर्सी पर पड़ा सुरंजन का शव।

एक माह पूर्व गांव से गया था
परिवार के लोगों ने कहा- एक माह पूर्व ही सुरंजन सहरसा गांव से लौटे थे। वे जिस लड़की से प्यार करते थे। उसे घर वाले पसंद नहीं करते थे। दोनों के बीच पांच-छह साल पुरानी दोस्ती है। परिवार वालों ने लड़की से दूर करने के लिए सुरंजन को जमशेदपुर भेजा। इधर, जब सुरंजन गांव गए तो उनके परिवार के लोगों ने लड़की की तस्वीर व मोबाइल नंबर देख लिया। इसको लेकर गांव में काफी विवाद हुआ, जिसके बाद एक माह पूर्व सुरंजन वापस शहर आ गए। यहां पर भी फोन से रोजाना परिवार वालों से झगड़ा होते रहता था। उनको परिवार के लोग अकेला नहीं छोड़ते थे।

परिजनों ने युवती से दोस्ती की बात बताई है सभी बिंदुओं पर कर रहे हैं जांच : सिटी एसपी
भाजपा कार्यालय में कुर्सी पर बैठे अवस्था में एक व्यक्ति ने खुद की कनपट्टी पर गोली मारकर आत्महत्या कर ली। किन कारणों से घटना को अंजाम दिया। किसी युवती से दोस्ती की बात परिवार वालों ने बताई है। सभी बिंदुओं पर टीम जांच कर रहे हैं।
- सुभाष चंद्र जाट, सिटी एसपी।

खबरें और भी हैं...