पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सख्ती:अब डॉग स्क्वायड के जरिए शराब तस्करी पर सख्ती

सहरसा8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डॉग स्क्वायड टीम द्वारा रेलवे स्टेशन पर यात्रियों के सामान की जांच। - Dainik Bhaskar
डॉग स्क्वायड टीम द्वारा रेलवे स्टेशन पर यात्रियों के सामान की जांच।
  • छह माह की ट्रेनिंग के बाद सहरसा रेल प्रशासन को मिला शराब खोजी कुत्ता
  • एक मीटर दूर से ही सूंघ कर शराब की करेगा पहचान राज्यरानी व क्लोन में हुई जांच

चुनाव से पहले ट्रेन के जरिए होने वाली शराब तस्करी पर नकेल कसने के लिए रेल प्रशासन ने सख्ती बढ़ा दी है। सहरसा रेल प्रशासन को रॉकी नामक एक शराब खोजी कुता मिला है। जो एक मीटर दूर से शराब की पहचान करेगा। छह माह की विशेष प्रशिक्षण के बाद रॉकी को सहरसा जंक्शन पर भेजा गया है।

बुधवार को जीआरपी इंस्पेक्टर राम सोरेन, जीआरपी थाना प्रभारी रविंद्र कुमार सिंह, आरपीएफ इंस्पेक्टर सारनाथ सहित जीआरपी और आरपीएफ की टीम ने डॉग स्क्वायड की मदद से राज्यरानी, वैशाली और क्लोन एक्सप्रेस ट्रेन की जांच की। पिछले एक सप्ताह में सहरसा जंक्शन पर दो बार शराब की खेप पकड़ी गई।

हालांकि रेल अधिकारियों का दावा है कि समस्तीपुर जंक्शन पर नई दिल्ली से सहरसा आने वाली वैशाली एक्सप्रेस की डॉग स्क्वायड की मदद से सघन जांच होती है। समस्तीपुर से खुलने के बाद बीच रास्ते में शराब की खेप चढ़ाई जाती होगी। आरपीएफ और जीआरपी की टीम मुस्तैदी से अपना काम कर रही है।

खबरें और भी हैं...