सतर्कता:पर्व में रेलवे स्टेशनों पर सख्ती, निगरानी के लिए डॉग स्क्वायड और सुरक्षा बल की होगी तैनाती

सहरसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिल्ली, मुंबई व अन्य जगहों से चल रही फेस्टिवल ट्रेन, सीसीटीवी की भी होगी व्यवस्था

आगामी छठ पूजा को लेकर रेलवे द्वारा कई एहतियाती कदम उठाए जा रहे हैं। जिससे विभिन्न रेलवे स्टेशनों से आने और जाने वाले रेल यात्रियों को कोई समस्या उत्पन्न नहीं हो सके। हाजीपुर जोन के मुख्य जनसंपर्क पदाधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि छठ पूजा के दौरान देश के विभिन्न स्टेशनों से पूर्व मध्य रेलवे के क्षेत्राधिकार में आने और जाने वाले ट्रेनों में यात्रियों की सुविधा के लिए कई कदम उठाए गए हैं। इसी क्रम में नई दिल्ली, मुंबई, अमृतसर, बंगाल आदि स्टेशनों से पूर्व मध्य रेल के विभिन्न स्टेशनों के मध्य फेस्टिवल स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है। जिनमें यात्रियों की अतिरिक्त भीड़ को देखते हुए यात्री सुरक्षा में किसी प्रकार की चूक न हो। इसके लिए स्टेशनों पर रेल सुरक्षा बल निरंतर चौकसी बरत रहे हैं। साथ ही अतिरिक्त सतर्कता बरतते हुए कुछ स्टेशनों पर डॉग स्क्वायड के साथ रेल सुरक्षा बल की तैनाती की गई है। यात्रियों की अतिरिक्त भीड़ को देखते हुए प्रमुख स्टेशनों पर यात्रियों के लिए होल्डिंग एरिया बनाया गया है। साथ ही ट्रेन के आवागमन की जानकारी सहज उपलब्ध हो सके। इसके लिए स्टेशनों पर निरंतर उद्घोषणा की जा रही है। इसके लिए मेगा माइक भी उपयोग में लाया जा रहा है। वही असमाजिक तत्वों तथा भीड़ नियंत्रण पर काबू करने के लिए यात्री सुरक्षा को देखते हुए मुख्य स्टेशनों पर सीसीटीवी कैमरे से रेल सुरक्षा बलों द्वारा चौबीसों घंटे गहन निगरानी की जा रही है। रेल सुरक्षा बल, पुलिस प्रशासन के अतिरिक्त प्रमुख स्टेशनों पर स्काउट एवं गाइड की भी तैनाती सुनिश्चित की गई है। साथ ही यात्रियों की सहायता के लिए प्रमुख स्टेशनों पर - मैं आई हेल्प यू, सहायता बूथ बनाया गया है। इसके अलावे चिकित्सा मदद के लिए चिकित्सा सहायता बूथ बनाए गए हैं। पैदल ऊपरी पुल पर यात्रियों के सामान्य आवागमन को ध्यान रखते हुए रेल सुरक्षा बल व पुलिस प्रशासन के अतिरिक्त निर्देशानुसार वाणिज्य विभाग के कर्मचारी को भी तैनात किया गया है। जबकि रेल सुरक्षा बल द्वारा ऐसे सभी उपाय किए गए हैं जिससे कोई भी यात्री नशाखुरानी गिरोह का शिकार नहीं बन सके। इसी क्रम में यात्रियों में जागरूकता लाने के लिए सोशल मीडिया, नुक्कड़ नाटक आदि के माध्यम से नशाखुरानी गिरोह एवं टिकट दलालों से बचने, रेलवे काउंटर एवं प्राधिकृत एजेंटों से ही टिकट प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। टिकट दलालों पर अंकुश लगाने के लिए कई स्टेशनों के आरक्षण कार्यालय में सीसीटीवी भी लगाए गए हैं। ताकि टिकट दलालों पर सीधी निगरानी रखी जा सके।

खबरें और भी हैं...