अनियमितता:ठेकेदार ने नहीं माना इंजीनियर का आदेश, मेटल व स्टोन डस्ट की जगह मिट्‌टी डाल बिछाया पेवर ब्लॉक

सहरसा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शहर के वार्ड 27/20 में 5 सौ फीट की सड़क 26 लाख की लागत से है निर्माणाधीन

नगर परिषद द्वारा शहर में संचालित योजनाओं में इंजीनियर और संवेदक की मिलीभगत से सरकारी राशि की लूट पर अंकुश लगाना किसी सरकारी महकमे के वश की बात नहीं है। नगर परिषद द्वारा शहर के वार्ड 27/20 में निर्माणाधीन सड़क में अनियमितता का मामला सामने आने के बाद इंजीनियर कार्यस्थल पर जाकर किए गए कार्यों को गलत बताते संवेदक को सुधार करने का निर्देश दिया। लेकिन संवेदक ने इंजीनियर की बतों को खारिज करते हुए आदेश मानने की बजाए अपनी मर्जी से पेवर ब्लॉक लगा दिया।

संवेदक की मनमानी का यह ताजा मामला शहर के वार्ड 27/20 स्थित रायटोला बजरंगबली स्थान से सांसद दिनेश चन्द्र यादव के चांदनी चौक के समीप स्थित घर होते रेलवे कॉलनी के समीप स्थित सिमरी बख्तियारपुर बस स्टैंड तक जाने वाली सड़क निर्माण से जुड़ा है। 26 लाख की प्राक्कलित राशि से बनाई जा रही सड़क पहले से पीसीसी थी। प्राक्कलन के अनुसार उसपर पलटा, जीरा, फाइब ऐट और स्टोन डस्ट मिला कर बेस तैयार कर पेवर ब्लॉक लगाना था। लेकिन संवेदक अनिल जादुका ने कनीय अभियंता पप्पू कुमार के कहने के विपरीत जल्दबाजी में पहले से बनी पीसीसी सड़क पर एक फीट मिट्‌टी कुछ अंश मेटल मिलाकर फिर मिट्‌टी डालकर उस पर पेवर ब्लॉक लगाना शुरू कर दिया।

खबरें और भी हैं...