पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आक्रोश:पशु चिकित्सालय बंद रहने से ग्रामीणों ने किया जमकर हंगामा

सोनवर्षाराज19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 6 माह से प्रभारी पशु चिकित्सक नहीं आ रहे

लगमा पंचायत स्थित प्रथम वर्गीय पशु चिकित्सालय के कई माह से बंद रहने से पदस्थापित चिकित्सक के विरुद्ध सोमवार को ग्रामीणों ने हंगामा करते हुए वरीय अधिकारियों से बंद चिकित्सालय को खुलवाने की मांग की। हंगामा कर रहे ग्रामीणों का कहना था कि बीते छः माह से अधिक समय से पदस्थापित प्रभारी पशुचिकित्सक चिकित्सालय नहीं आते हैं। जिससे न केवल मवेशी पालकों को निजी चिकित्सकों के भरोसे रहना पड़ता है जबकि चिकित्सालय में मवेशी पालकों के मवेशियों के लिए उपलब्ध दवा सहित अन्य सामाग्री बर्बाद हो रहा है। क्षेत्र में पशुपालन लोगों के मुख्य जीविका का स्रोत है। लेकिन लगमा पंचायत में साधन और संसाधन उपलब्ध रहने के बाद भी विभागीय उदासीनता से पशुपालकों के मवेशियों का इलाज नहीं हो पाने से ग्रामीण आक्रोशित थे। विभागीय सूत्रों के अनुसार लगमा पशु चिकित्सालय के प्रभारी चिकित्सक सौरबाजार के टीभीओ डॉ. प्रदीप कुमार है। जिनसे काफी पर्यत्न के बावजूद सम्पर्क नहीं हो पाया।

खबरें और भी हैं...