पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बैठक:तीन माह में दो लाख लोगों को मिलेगी नौकरी प्रवासियों को 10 लाख ऋण देने की व्यवस्था

सहरसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • समीक्षा बैठक से पहले श्रम संसाधन मंत्री जीवेश मिश्र का परिसदन में संबोधन

बिहार के श्रम संसाधन मंत्री जीवेश मिश्र ने कहा कि बिहार अब रोजगार परक राज्य बन रहा है। यहां के युवा अब दूसरे जगह के युवा को रोजगार देंगे। आगामी तीन माह में दो लाख लोगों को नौकरी मिलेगी। श्रम संसाधन मंत्री सह जिले के प्रभारी मंत्री बुधवार को समीक्षा बैठक में शामिल होने से पूर्व मीडिया कर्मियों से स्थानीय परिसदन में बोल रहे थे। प्रभारी मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री उधमी योजना के तहत हुनरमंद प्रवासी श्रमिकों को 10 लाख रुपया तक ऋण दिए जाने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि जिस समय कोरोना की पहली लहर शुरू हुई थी उस समय देश में एक मात्र आरटीपीसीआर जांच केंद्र था, जिसकी संख्या अब बढ़कर 2500 हो गई है। एक लाख 60 हजार आइसोलेशन वार्ड का निर्माण किया गया। 60 हजार से अधिक वेंटिलेटर की व्यवस्था की गई । मंत्री ने कहा कि बिहार सरकार चाहती है कि तीसरी लहर से राज्य अछुता रहे, इसके लिए मुख्यमंत्री द्वारा 6 महीने में 6 करोड़ लोगों को टीका लगाने का लक्ष्य रखा गया है। मंत्री ने कहा कि बिहार में 17 लाख श्रमिक को आधार से लिंक कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि 1.25 लाख शिक्षकों के साथ-साथ स्वास्थ विभाग द्वारा 30 हजार से अधिक रिक्तियों को भरा जाना है। श्रम संसाधन विभाग में तीन-चार हजार लोगों को नौकरी मिलेगी। इस अवसर पर स्थानीय सांसद दिनेश चंद्र यादव, बिहार सरकार के कला-संस्कूति एवं युवा विभाग के मंत्री डॉ आलोक रंजन, भाजपा महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष लाजवंती झा, भाजपा जिला अध्यक्ष दिवाकर सिंह सहित अन्य उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...