पहल / ग्रामीणों के बनाए क्वारेंटाइन झोपड़ी में 6 दिनों से दिन गुजार रहे मजदूर

Villagers living in quarantine huts built by villagers for 6 days
X
Villagers living in quarantine huts built by villagers for 6 days

  • रसलपुर चौक से पहले नवनिर्मित झोपड़ी को बनाया क्वारेंटाइन सेंटर
  • मुंबई व अन्य स्थानों से 10 प्रवासी मजदूरों की सुधि लेने वाला कोई नहीं

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

सहरसा. प्रखंड के सुगमा-बनमा मुख्य सड़क मार्ग पर रसलपुर चौक से पहले नवनिर्मित झोपड़ी को क्वारेंटाइन सेंटर बनाकर उसमें रह रहे करीब 10 प्रवासी मजदूरों की सुधि लेने वाला कोई नहीं है। जबकि घनी आबादी वाले गांव से दूर रह रहे करीब 10 मुस्लिम  प्रवासी मजदूरों को इन झोपड़ी में ठहरे हुए छठे दिन से अधिक हो गए हैं। बावजूद अब तक  कोई भी प्रखंड के प्रशासनिक अधिकारी  पहुंचे हैं ।
स्वास्थ्य जांच नहीं होने से संक्रमण होने का है डर  
झोपड़ीनुमा क्वारेंटाइन में ठहरे हुए प्रवासी मजदूर रसलपुर पंचायत के  मो मेराज आलम, मो चांद, मो शौकत, मो सुल्तान, मो वकील, मो तैय्यब, मो लुकमान सहित अन्य मजदूरों का कहना है कि हमलोग 17 मई की शाम महाराष्ट्र से मुख्य सड़क मार्ग होकर किराए के वाहन से गांव पहुंचे थे। पंचायत के स्कूल में बने क्वारेंटाइन सेंटर पर ठहरने के लिए जगह नहीं मिलने व प्रशासन सहित पंचायत प्रतिनिधियों के सहयोग नहीं मिलने से हमारे वार्ड सदस्य मो जुब्बेर के द्वारा ठहरने की व्यवस्था की गई। 
   घनी आबादी वाले रसलपुर गांव से दूर मुख्य सड़क मार्ग पर दूसरे दिन 18 मई को  झोपड़ी बनवा दी गयी। इस झोपड़ी में  ठहरे हुए करीब 6 दिन बीत गए।  सबसे ज्यादा स्वास्थ्य जांच की चिंता सताने लगी है। स्वास्थ्य जांच नहीं होने से डर सता रहा है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना