पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आफत कि बाढ़:बारिश से नूना नदी उफनाई गांवों में घुसा बाढ़ का पानी

सिकटी10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सिकटी के घोड़ा चौक पर बह रहा नुना नदी का पानी।
  • बाढ़ पीड़ितों की समस्या से न प्रशासन को वास्ता और न यहां के जन प्रतिनिधि को कोई मतलब
  • पडरिया तटबंध ध्वस्त होने से नदी का पानी गांव में धुसा

दो दिनों से लगातार हो रहेे भारी बारिश केे कारण नूना नदी एक बार फिर उफनाने से आधा दर्जन से अधिक गांव में बाढ़ का पानी घरों में पानी घुस गया है। यहां के ग्रामीण प्रमुुुख प्रतिनिधि खुर्शीद आलम, इलताफ अंसारी अहमद राजा, पंसस प्रतिनिधि परवाज आलम, इस्तियाक अहमद, आदि दर्जनों की संख्या में लोगों ने बताया कि नूना नदी में अचानक पानी आने से पडरिया, रानीकट्टा, सिघिया, बलीगढ, कठुआ, सालगुडी कचना आदि गांव के घरों में पानी घूस गया है। घोड़ा चौक के पास नूना नदी का कटाव काफी तेज हो गया है। नूना नदी के पडरिया तटबंध गत जुलाई माह के बाढ़ में हीं ध्वस्त हो गया था, जिस कारण नूना नदी में पानी आने के कारण सीधे गांव में घूस जाता है पडरिया वार्ड नंबर-9 में भारी तबाही मचाता है। ग्रामीणों का कहना है कि विगत पांच वर्षों में तटबंध मरम्मत के नाम सैदाबाद से लेकर सिघिया तक जितनी राशि तटबंध मरम्मत के नाम पर खर्च की गयी है उतनी राशि में सैदाबाद से लेकर सिघिया तक तटबंध का स्थाई निदान निकल जाता। लेकिन इसे न तो यहां के प्रशासन देखता है और न हीं यहां के प्रतिनिधि को कोई मतलब है। राजद के प्रदेश सचिव मो.कमरूज्जामा ने बताया कि नूना नदी से हर वर्ष बाढ़ भारी तबाही मचाती है, इस बार ने तो नूना नदी हद पार कर दी है। हर दो दिनों पर नूना नदी उफना जाती है तथा लोगों का जीना मुहाल हो जाता है, लेकिन अभी तक इन बाढ़ पीडित परिवारों को किसी भी प्रकार का कोई राहत मुहैया नहीं कराया गया है। इस संबंध में सीओ विरेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि नूना नदी के पडरिया तटबंध ध्वस्त होने के कारण गांव में पानी फैल रहा है। उन्होंने बताया कि इसकी सूचना जिला में दे दी गयी है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें