पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गोरखधंधा:सिकटी में डीजल व पेट्रोल की तस्करी जोरों पर, सीमावर्ती पंप की बिक्री घटी

सिकटीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नेपाल से सस्ता पेट्रोल-डीजल लाकर भारत में बेचा जा रहा

भारत की अपेक्षा नेपाल में पेट्रोल व डीजल की 20 से 25 रुपए कम कीमत
भारत में पेट्रोल व डीजल की कीमतों में हो रहे वृद्धि के कारण नेपाल से पेट्रोल व डीजल की तस्करी भारी मात्रा में की जा रही है। भारतीय क्षेत्र में पेट्रोल की कीमत 105 रुपए तो डीजल 96 रुपए प्रति लीटर बिक रहा है। नेपाल में 20 से 25 रुपए कम कीमत है। जिस कारण नेपाल से तस्करों द्वारा बाइक पर गैलन के माध्यम से डीजल व पेट्रोल लाया जा रहा है। भारतीय क्षेत्र में डीजल व पेट्रोल मंहगा होने के कारण सीमावर्ती इलाकों के पंपों पर सन्नाटा पसरा है। तेल की तस्करी खुलेआम जारी है। सीमावर्ती इलाकों के पंप संचालकों का कहना है कि एक ओर जहां नेपाली क्षेत्र में पंप की बिक्री में जबरदस्त इजाफा हुआ है।
वहीं, भारतीय क्षेत्र में 70-90 फीसदी गिरावट देखी जा रही है। भारतीय क्षेत्रों डीजल पेट्रोल के तस्करों द्वारा गांव गांव व हाट बाजारों में कम कीमत पर पेट्रोल व डीजल पहुंचाते हैं। जिस कारण सीमावर्ती इलाकों के पेट्रोल पंप पर बिक्री काफी घट गई है। तस्कर बाइक से केन व गैनल लाद कर भारतीय क्षेत्र में प्रवेश करते हैं। यही कारण है कि भारतीय सीमावर्ती क्षेत्रों में पेट्रोल-डीजल की बिक्री 1000 से 12000 लीटर तक कम हो गई है।

सीमा पर जवानों को निगरानी रखने का दिया निर्देश
इस संबंध में एसएसबी 52 वीं बटालियन के सेना नायक विरेन्द्र कुमार वर्मा ने दूरभाष पर बताया कि एसएसबी के जवानों द्वारा तस्करों पर पैनी नजर रखी जा रही है। उन्होंने बताया कि कुचहा कैंप के जवानों ने दो बाइक पर तीन सौ लीटर डीजल व दो सौ लीटर पेट्रोल जब्त किया है। जवानों को निगरानी बढ़ाने का निर्देश दिया जाएगा ताकि पेट्रोल व डीजल की तस्करी पर रोक लग सके।

भारत से ही नेपाल जाता है पेट्रोल और डीजल
सिकटी के पेट्रोल पंप संचालक रामनाथ झा, रमेश यादव ने बताया कि पुरानी संधि के मुताबिक इंडियन ऑयल काॅरपोरेशन ही नेपाल के लिए ईंधन खाड़ी देशों से मंगवाता है। नेपाल और भूटान दाे देश तेल के बदले डाॅलर में भारत काे भुगतान करते हैं। नेपाल में तेल जाने के लिए भारत से लगते कई सीमावर्ती इलाके हैं। बिहार में डीजल बरौनी डिपो से पाइपलाइन से, जबकि पेट्रोल टैंकर से जाता है।

भारत से नेपाल तेल रिफाइन होकर जाता है। रिफाइनरी शुल्क के अलावा आईओसी खरीद मूल्य पर ही नेपाल को तेल देता है। पूरे नेपाल में तेल पर सिर्फ एक ही टैक्स है। भारत में पहले केंद्र की 12 प्रतिशत एक्साइज ड्यूटी, फिर बिहार में 26 प्रतिशत स्पेशल वैट, 12 प्रतिशत इंट्री टैक्स (कुल टैक्स करीब 48.50 रुपए) की वसूली हाेती है। प्रति लीटर 3 रुपए डीलर कमीशन है।

खबरें और भी हैं...