नई तकनीक:बेस्ट ऐप से विद्यालय प्रधान आंकड़ों की करेंगे एंट्री

सोनोएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बीआरसी में विद्यालय प्रधानों की मासिक बैठक के दौरान दिया गया निर्देश

विद्यालय से बाहर अनामांकित व छीजित बच्चों के गृहवार सर्वेक्षण के आंकड़ों की एंट्री बेस्ट ऐप के माध्यम से विद्यालय प्रधानों के द्वारा किया जाना है। सर्वेक्षण का उद्देश्य से 6 से 18 आयु वर्ग के विद्यालय से बाहर के अनामांकित व छीजित बच्चों की पहचान करना व उम्र सापेक्ष कक्षा में नियमानुसार नामांकन करना है। जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, समग्र शिक्षा अभियान जमुई के विभागीय निर्देशानुसार मंगलवार को स्थानीय बीआरसी में प्रखंड के सभी प्रारंभिक विद्यालयों के विद्यालय प्रधानों की आयोजित मासिक बैठक के दौरान यह जानकारी बीआरपी प्रदीप कुमार आर्य ने दी। उन्होंने बताया कि कोरोना टीकाकरण जागरूकता अभियान में सभी शिक्षकों की सहभागिता आवश्यक है। सभी के सहयोग से ही शत प्रतिशत टीकाकरण का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है। वहीं बताया गया कि विभागीय निर्देश के आलोक में विद्यालय शिक्षा समिति का खाता भारतीय स्टेट बैंक में ही खोला जाना है। विद्यालय प्रधानों को स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा गया कि विद्यालय ससमय संचालित हो, इसका ध्यान रखा जाए। बच्चों की उपस्थिति बेहतर हो। शालासिद्धि व स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार आदि पर विस्तृत चर्चा की गई। मौके पर बीआरपी राजेश कुमार गुप्ता, राजेंद्र दास, प्रधानाध्यापक सुनील कुमार, सोफेन्द्र पासवान, निरंजन कुमार सिंह, अरविंद कुमार साह, जितेंद्र गोस्वामी, संतोष कुमार सिंह, प्रणव शेखर, विनय कुमार दास, राजेश कुमार सिंह आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...