पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोविड 19:45 नावों की जरूरत, पुरानी काे हटाकर दी जाएंगी नईं, एसडीएम ने सिसौनी से घोगररिया तक किया भौतिक सत्यापन

मरौनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिसौनी, बड़हरा, घोगररिया के लोग नदी के आर-पार जाते हैं

एसडीएम नीरज नारायण पांडेय शुक्रवार को सिसौनी से घोगररिया तक नाव का भौतिक सत्यापन व सिक्कहता मझारी निम्म बांध का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कोसी नदी में नाव की व्यवस्था को लेकर सभी पुरानी नाव को चिह्नित कर हटाया जाएगा। पीड़ितों के लिए नई नाव की व्यवस्था की जाएगी। जहां-जहां नाव की जरूरत है, वहां नाव की व्यवस्था की जाएगी। नए नाविक का रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। सिसौनी, बड़हरा, घोगररिया के ज्यादातर लोग अपनी खेती व मवेशी के चारा के लिए कोसी नदी के उस पार रोज आते-जाते हैं।

कोसी नदी में बसे लोगों की सुविधा के लिए 45 नावों की जरूरत है। सभी पुरानी नाव हटाकर नई नाव दी जाएगी। एसडीएम ने कहा कि बाढ़ से पूर्व बोरी में मिट्टी भर स्टॉक किया जाएगा। सिसौनी से मंगासिहोल तक गाइड बांध पर बने रेनकट को अविलंब दुरुस्त किया जाए, समय से बाढ़ निरोधात्मक काम पूरा किया जाए, बाढ़ आपदा से निपटने के लिए तैयारियां पूरी की जाए, इसमें कोताही बरतने वाले को बक्से नहीं जाएंगे। कार्यपालक अभियंता सतीश कुमार को मझारी सिकरहट्टा निम्म तटबंध पर बाढ़ निरोधात्मक व सुरक्षात्मक कार्य प्राथमिकता के आधार पर कराने का निर्देश दिया। रेनकट और ट्रैक्टर कट वाले स्थल को चिह्नित कर बाढ़ से पूर्व मरम्मत कर बाढ़ राहत कार्य में को लेकर काम करने वाले गोताखोरों, नाविकों व अन्य कर्मियों को ससमय कोविड-19 का शत-प्रतिशत टीकाकरण कराने का निर्देश दिया गया।

बाढ़ के दरमियान पशुओं के उपचार के लिए पर्याप्त दवा व पशुचारा की व्यवस्था सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया। पर्याप्त मात्रा में खाद्यान्न का भंडारण करने का निर्देश दिया गया। मौके पर कार्यपालक अभियंता सतीश कुमार, जेई थे।

खबरें और भी हैं...