त्यौहार:भाई और बहन का पर्व भैयादूज मना बहनों की भाई के चिरायु की कामना

वीरपुर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वीरपुर में भैया दूज में भाई को तिलक लगती बहन। - Dainik Bhaskar
वीरपुर में भैया दूज में भाई को तिलक लगती बहन।
  • सुबह से शाम तक नेपाल जाने-आने वालों का लगा रहा तांता

मिथिलांचल का भाई और बहन के आस्था, विश्वास और श्रद्धा का महत्वपूर्ण पर्व अनुमंडल मुख्यालय समेत आसपास के क्षेत्रों में मनाया गया। जहां बहनों ने भाई को एक दिन पूर्व टिका लगाने का न्योता दिया था। शनिवार को बहनें अपने भाई को पारंपरिक रीति रिवाज से पूजा की। बताया जाता है कि इस पर्व में अटूट विश्वास, आस्था और श्रद्धा भरा हुआ है। भाई की पूजा कर बहने भाई के लिए लंबी उम्र की कामना करती है। जानकारी अनुसार नेपाल में इसे भाई टीका कहा जाता है और बड़े ही धूम धाम से इसे मनाया जाता है। भैया दूज के मौके पर सीमावर्ती क्षेत्र के भीमनगर से नेपाल जाने वाले लोगो की भीड़ शनिवार को हजारों की संख्या में रही होगी। कोविड 19 महामारी को लेकर जहां 20 महीने बाद सीमा को आम लोगो के लिए खोल दिया गया तब पिछले दो सालों से नेपाल नही जा सके लोगो ने इस पर्व में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया और नेपाल स्थित अपने रिश्तेदारों के घर गए। व्यवसायी रामबाबू साह ने बताया कि पिछले दो वर्षों से जहां लोग खुलकर भाई टीका पर्व में नेपाल नही जा सके थे उस अनुरूप इस साल आने जाने वाले लोगो की संख्या में तीन से चार गुनी बढ़ोतरी हुई है। रामजानकी मंदिर वीरपुर के पंडित कौशिकी पांडेय ने बताया कि भैया दूज मिथलांचल के भाई बहन का अटूट पर्व है जिसमे बहन अपने भाई की लंबी उम्र की कामना भगवान से करती है।

खबरें और भी हैं...