पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन:आपसी निर्णय से व्यवसायियों ने खोल ली एक साथ सभी दुकानें, बंद कराने पहुंची पुलिस को एक घंटे बनाया बंधक

निर्मली16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बुधवार को पुलिस व वाहन का घेराव करती व्यावसायियों की भीड़। - Dainik Bhaskar
बुधवार को पुलिस व वाहन का घेराव करती व्यावसायियों की भीड़।
  • शहर के भगत सिंह चौक के समीप हार्डवेयर दुकान को बंद करने पर हुआ हंगामा
  • व्यवसायियों ने प्रशासन के विरोध में किया प्रदर्शन, एसडीएम को सौंपा मांगों का ज्ञापन

अनलॉक 4 का निर्मली शहर के व्यवसायियों ने बुधवार को जमकर विरोध किया। व्यवसायियों ने कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करते हुए बुधवार को एक साथ सभी प्रतिष्ठान खोल दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शहर की दुकानों को बंद कराने की कोशिश की। इसी क्रम में शहर के भगत सिंह चौक के समीप एक हार्डवेयर की दुकान को बंद करने के लिए कहा गया। जिस पर व्यवसायी एवं पुलिस के बीच हाथापाई हो गई। जिसको लेकर पुलिस द्वारा उक्त व्यवसायी को गिरफ्तार करने की कोशिश की गई। इतने में ही व्यवसायियों ने एकजुट होकर हंगामा करते हुए उक्त व्यवसायी को पुलिस के कब्जे से छुड़ाने का प्रयास किया। व्यवसायियों ने विरोध करते हुए पुलिस व उसके वाहन को करीब एक घंटे तक बंधक बनाकर प्रदर्शन किया। जिसके बाद पूरे मामले की जानकारी एसडीएम नीरज नारायण पाण्डे को दी गई। सूचना मिलते ही एसडीएम ने लोक शिकायत पदाधिकारी लतिफुर रहमान के नेतृत्व में अनुमंडल के सभी थाने एवं ओपी पुलिस के साथ घटना स्थल पर पहुंचकर विरोध कर रहे व्यवसायियों को समझा-बुझाकर शांत कराते हुए बंधक बने पुलिस वाहन को छुड़ाया। इधर, भारी संख्या में पुलिस बल को देख व्यवसायियों ने खुली दुकानों को बंद कर दिया। जिससे बाजार में सन्नाटा छा गया। स्थानीय प्रशासन ने शहर में व्यवसायियों द्वारा हो रहे विरोध को देखते हुए इसकी जिला पदाधिकारी व पुलिस अधीक्षक को सूचना दी। सूचना मिलते जिला से अतिरिक्त पुलिस बल भेजी गई। इसके बाद पूरा शहर पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। इधर, निर्मली थानेदार का कहना है कि पूरी घटना सुनियेजित तरीके से की गई है।

एसडीएम से गाइडलाइन में सुधार करवाने की मांग
पुलिस कार्रवाई के विरोध में आक्रोशित व्यवसायियों का एक शिष्टमंडल अनुमंडल कार्यालय पहुंचकर एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। दिए ज्ञापन में व्यवसायियों ने कहा कि अनलॉक 4 लागू करने में सरकार द्वारा खुदरा व्यवसायियों की अनदेखी की गई है। जबकि उद्योग करने वालों पर नरमी करते हुए उन्हें मालामाल किया जा रहा है। हम खुदरा व्यवसायी से श्रेणीवार दुकानें खुलने के गाइडलाइन का अनुपालन करने को कहा जा रहा है। जिस कारण सरकार का टैक्स, बिजली बिल, लेवर शेष, बढ़ गया है। जिससे भुखमरी की कगार पर आ गए हैं। दुकान में रखा सामान बर्बाद हो गया है। व्यवसायियों ने मांग करते हुए नियम में सुधार कर प्रतिदिन दुकान खोलने की अनुमति मांगी है। साथ ही प्रशासन द्वारा की जा रही कार्रवाई में नरमी बरतने की एसडीएम से गुहार लगाई।

घटना के बाद शहर में तैनात पुलिस और मौजूद अधिकारी।
घटना के बाद शहर में तैनात पुलिस और मौजूद अधिकारी।

एक दिन पूर्व व्यवसायियों की हुई थी बैठक
लोक शिकायत पदाधिकारी सह मजिस्ट्रेट लतीफ उर रहमान ने बताया कि कोरोना गाइडलाइन की धज्जियां उड़ाते हुए 01 दिन पूर्व व्यवसायियों द्वारा शहर के अज्ञात जगह पर बिना अनुमति बैठक की गई थी। बैठक में तय हुआ कि सरकार द्वारा जारी अनलॉक 4 गाइडलाइन की अवहेलना कर बुधवार से सभी दुकानें खोली जाएगी। जिसके बाद बुधवार को सुबह होते ही शहर की सभी दुकानें खोल दी गई। इसकी सूचना पर प्रशासन ने जब कार्रवाई की कोशिश की तो स्थानीय व्यवसायियों ने जमकर विरोध करते हुए प्रशासन के वाहन को बंधक बनाकर प्रदर्शन किया। जिसके आलोक में निर्मली थानाध्यक्ष को कार्रवाई करने का आदेश दिया गया।

पुलिस छावनी में तब्दील हुआ पूरा निर्मली शहर
व्यवसायियों के विरोध को देखते हुए जिला द्वारा अतिरिक्त पुलिस बल शहर में तैनात कर दिया गया है। देखते ही देखते शहर पुलिस छावनी में तब्दील हो गई। पुलिस का नेतृत्व कर रहे लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी लतीफुर रहमान, सीओ मुकेश कुमार, थानाध्यक्ष पंकज कुमार, मरौना थानाध्यक्ष संतोष कुमार निराला, नदी थानाध्यक्ष, कुनौली थानाध्यक्ष, डगमारा ओपी अध्यक्ष शहर में करीब 10 वाहन के साथ फ्लैग मार्च किया। फ्लैग मार्च को देख शहर में हड़कंप मच गया। एसडीएम नीरज नारायण पांडेय ने कहा कि सरकारी गाइडलाइन तोड़ने एवं पुलिस प्रशासन से बदसलूकी करने को लेकर कार्रवाई का निर्देश दिया गया है। व्यवसायियों द्वारा गोपनीय ढंग से बैठक कर नियमों की अनदेखी करते हुए दुकान खोलना सरकारी आदेश की अवहेलना है। जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...