पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

परेशानी:सफाईकर्मियों की हड़ताल, शहर में कचरा

सुपौल5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिलाध्यक्ष ने कहा-मांगों को लेकर सरकार से चल रही बात, मांगें मानने तक जारी रहेगी हड़ताल

बिहार लोकल बॉडीज कर्मचारी संयुक्त संघर्ष मोर्चा के आवाह्न पर जिले में सफाई कर्मियों का 06 सितंबर से चल रहा हड़ताल रविवार को भी जारी रहा। रविवार को फिर से सफाई कर्मियों ने नगर परिषद परिसर में धरना प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। जानकारी देते हुए नगर परिषद कर्मचारी संघ सुपौल के जिलाध्यक्ष यदुवंशी यादव ने बताया कि बिहार लोकल बॉडीज कर्मचारी संयुक्त संघर्ष मोर्चा के अध्यक्ष चंद्र प्रकाश सिंह से बिहार के नगर निकाय के कर्मियों की 12 सूत्री लंबित मांगों पर प्रधान सचिव नगर विकास एवं आवास विभाग के कार्यालय कक्ष में सकारात्मक दिशा में वार्ता हुई है। उन्होंने सभी बिंदुओं पर अधिकारियों से चर्चा की। लेकिन दैनिक मजदूरों का नियमितीकरण, समान काम समान वेतन अथवा 18000 से लेकर 21000 रूपए तक महावारी वेतन आदि मांग पर सहमति नही बन सकी। मांगों को लेकर वार्ता कल भी जारी रहेगी। साथ ही बिहार के नगर निकायों में चल रही अनिश्चितकालीन हड़ताल जारी रहेगी। जिलाध्यक्ष यदुवंशी यादव ने बताया कि विभाग से संगठन के अधिकारियों की वार्ता जारी है। लेकिन संगठन की मुख्य मांगे ग्रुप “डी” के पदों को पुनर्जीवित करना, दैनिक मजदूरों का नियमितीकरण,आउटसोर्स पर रोक, नगर निकायों के स्तर पर ग्रुप “सी” का नियंत्रण एवं अनुकंपा पर नियुक्ति को शीघ्र प्रारंभ करना आदि है। इन प्रमुख मांगों पर जब तक सरकार फैसला नहीं करती है, तब तक इस हड़ताल को किसी भी परिस्थिति में स्थगित नहीं किया जा सकता है।

खबरें और भी हैं...